Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आधी रात रसोई गैस सिलेण्डर में विस्फोट, तेज धमाके से आसपास के मकान भी थर्राए, 3 लोगों की मौत

राजस्थान के चित्तौड़गढ़ के प्रताप नगर इलाके में बीती रात करीब तीन बजे एक मकान की रसोई में गैस सिलेण्डर में विस्फोट हो गया। इस धमाके के बाद आग लगने व छत की पट्टियां गिरने से दंपती व मां की मौके पर ही मौत हो गई।

आधी रात रसोई गैस सिलेण्डर में विस्फोट, तेज धमाके से आसपास के मकान भी थर्राए, तीन लोगों की मौत
X

रसोई गैस सिलेण्डर में विस्फोट

चित्तौड़गढ़। राजस्थान के चित्तौड़गढ़ (Chittorgarh) के प्रताप नगर इलाके में बीती रात करीब तीन बजे एक मकान की रसोई में गैस सिलेण्डर (LPG Cylinder) में विस्फोट हो गया। इस धमाके के बाद आग लगने व छत की पट्टियां गिरने से दंपती व मां की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि युवक व तीन बच्चे गंभीर घायल हो गए, जिन्हें उदयपुर रैफर किया गया है। विस्फोट का धमाका इतना तेज था कि आसपास के मकान भी थर्रा गए और इलाके में लोग सहम गए। इस की आवाज से ही आस पास के इलाकों में दहशत का माहैल पैदा हो गया।

छत की पट्टियां हटाकर शवों को बाहर निकाला

जानकारी के अनुसार प्रताप नगर में गुरूद्वारे के पीछे रहने वाले मेडिकल व्यवसायी पुरूषोत्तम (35) पुत्र हीरालाल भांबी व उनके परिजन मकान में सो रहे थे। रात्रि करीब 3 बजकर 10 मिनट पर अचानक रसोई में रखा गैस सिलेण्डर फट गया। तेज धमाके व विस्फोट के साथ ही आग लग गई। विस्फोट से मकान की पट्टियां गिर गई। पुरूषोत्तम, उसकी पत्नी जमना बाई (30) व मां सजनी बाई (55) पट्टियों के नीचे दब गए और तीनों की मौके पर ही मौत हो गई। इनमें जमना बाई का चेहरा भी झुलस गया। जबकि पुरूषोत्तम का छोटा भाई उमेश (25), पुत्र जयदीप (10), पुत्री भूमि (11) तथा साढू का बेटा सूरज (15) गंभीर घायल हो गए। धमाके की आवाज इतनी तेज थी कि आसपास के मकान थर्रा गए। लोग दौड़ कर घरों से बाहर आए तो हादसे के बारे में पता चला। पड़ोस में रह रहे लोगों ने पट्टियां हटाकर तीनों को बाहर निकाला, लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। जबकि भूमि, जयदीप व सूरज झुलस गए थे।

मौके पर पहुंची दमकल की गाड़ियां

सूचना मिलते ही नगर परिषद से दो दमकल, पुलिस उप अधीक्षक मनीष शर्मा, कोतवाली व सदर थाना पुलिस तथा क्षेत्रीय पार्षद विजय चौहान व संदीप अरोड़ा मौके पर पहुंचे और तीनों को शव सांवलिया जी अस्पताल के शव गृह में रखवाए। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद चारों घायलों को गंभीरावस्था में उदयपुर रैफर कर दिया।

Next Story