Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राजस्थान सरकार ने जारी किए निर्दश- कार्यालय समय में सोशल मीडिया का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे अधिकारी व कर्मचारी

शिक्षा विभाग के अधिकारी और कार्मिक कार्यालय समय में सोशल मीडिया का उपयोग नहीं कर सकेंगे। इस सबंध में शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश जारी किए हैं।

राजस्थान सरकार ने जारी किए निर्दश- कार्यालय समय में सोशल मीडिया का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे अधिकारी व कर्मचारी
X

राजस्थान शिक्षा विभाग

जयपुर। सोशल मीडिया के बढ़ते चलन को देखते हुए राजस्थान सरकार ने सख्त निर्देश जारी किया है। अब शिक्षा विभाग के अधिकारी और कार्मिक (Education Department Officers and Personnel) कार्यालय समय (office timing) में सोशल मीडिया (Social media) का उपयोग नहीं कर सकेंगे। इस सबंध में शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा (Education Minister Govind Singh Dotasara) ने विभागीय अधिकारियों (Departmental officers) को निर्देश जारी किए हैं। उन्होंने सोमवार को शिक्षा संकुल के औचक निरीक्षण के दौरान अधिकारियों को इस संबंध में निर्देश जारी किए हैं।

शिक्षा मंत्री ने किया औचक निरीक्षण

गौरतलब है कि सोमवार को शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने शिक्षा संकुल का औचक निरीक्षण किया और जिला शिक्षा अधिकारी सहित विभिन्न कार्यालयों में व्यवस्थाओं की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने कहा कि विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि कार्यालय समय के दौरान कोई भी अधिकारी और कार्मिक कार्यालय कार्य के अलावा किसी अन्य काम के लिए व्हाट्सएप (Whatsapp), फेसबुक (Facebook) और ट्विटर (Twitter) सहित विभिन्न Social media platform का उपयोग नहीं करेंगे। यह आदेश आज से ही लागू करने के लिए भी अधिकारियों से कहा गया है।

कार्यालयों में शत प्रतिशत उपस्थिति के आदेश जारी

वहीं शिक्षा संकुल की अन्य व्यवस्थाओं और कार्मिकों की उपस्थिति को लेकर उन्होंने कहा कि कोविड के बाद अब जबकि कार्यालयों में शत प्रतिशत उपस्थिति के आदेश जारी कर दिए गए हैं तो ऐसे में जरूरी है कि गुड गर्वनेंस के तहत कार्यालयों की व्यवस्थाएं सुचारू रूप से संचालित हो जिससे आमजन को परेशानी नहीं हो। उन्हेंने कहा कि विभागीय व्यवस्थाओं से वह संतुष्ट हैं, अधिकारी और कार्मिक समय से आकर अपना काम कर रहे हैं। वहीं जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के फर्नीचर को लेकर उन्होंने असतुष्टता जाहिर की।

Next Story