Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ED ने आय से अधिक संपत्ति मामले में राजस्थान स्वास्थ्य विभाग के पूर्व अधिकारी को किया गिरफ्तार

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कहा है कि राजस्थान के स्वास्थ्य विभाग के एक पूर्व अधिकारी और उसके बेटे को आय के ज्ञात स्रोत से अधिक की संपत्ति के मामले में गिरफ्तार किया गया है। ईडी ने कहा कि उन दोनों से पूछताछ की जा रही है।

ED ने आय से अधिक संपत्ति मामले में राजस्थान स्वास्थ्य विभाग के पूर्व अधिकारी को किया गिरफ्तार
X
ED ने आय से अधिक संपत्ति मामले में राजस्थान स्वास्थ्य विभाग के पूर्व अधिकारी को किया गिरफ्तार

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शनिवार को कहा कि उसने राजस्थान के स्वास्थ्य विभाग के एक पूर्व अधिकारी और उसके बेटे को आय के ज्ञात स्रोत से अधिक की संपत्ति के मामले से जुड़े धन शोधन की जांच के सिलसिले में गिरफ्तार किया है।

ईडी ने बताया कि राजस्थान सरकार के स्वास्थ्य और चिकित्सा विभाग में नर्सिंग ट्यूटर (नर्सिंग ग्रेड-दो) के तौर पर काम कर चुके और एसएमएस मेडिकल कॉलेज में नियुक्त महेश चंद शर्मा तथा उसके बेटे मोहित शर्मा को जयपुर में शुक्रवार को धन शोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) की धाराओं के तहत गिरफ्तार किया।

एजेंसी ने एक बयान में बताया कि उन्हें शुक्रवार को एक स्थानीय अदालत के समक्ष पेश किया गया जहां से उन्हें 10 दिनों के लिए ईडी की हिरासत में भेज दिया गया। महेश चंद शर्मा दिल्ली में इंडियन नर्सिंग काउंसिल (आईएनसी) का भी सदस्य था।

ईडी ने कहा कि लोकसेवक के तौर पर भ्रष्ट तरीके अपनाकर महेश चंद शर्मा द्वारा बनायी गयी अवैध संपत्ति का पता लगाने के लिए आरोपियों से हिरासत के दौरान पूछताछ की जा रही है। एजेंसी ने राज्य के भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो (एसीबी) द्वारा दर्ज प्राथमिकी और दायर आरोपपत्र के आधार पर महेश और अन्य के खिलाफ धन शोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत आपराधिक आरोप लगाए हैं।

ईडी ने कहा है कि जयपुर एसीबी ने कुछ समय पहले शर्मा और उसके एक सहयोगी को एक नर्सिंग संस्थान का नाम इंडियन नर्सिंग काउंसिल की वेबसाइट पर शामिल कराने के बदले में पांच लाख रुपये रिश्वत लेते हुए पकड़ा था। ईडी ने आरोप लगाया कि एसीबी की जांच से पता चला कि आरोपी ने 10.6 करोड़ रुपये की संपत्ति बनायी, जो कि आय के ज्ञात स्रोत से 372 प्रतिशत ज्यादा है।

जांच के दौरान ईडी ने जयपुर के मानसरोवर में आरएजी अस्पताल में महेश के रिहायशी परिसर और जयपुर के सांगानेर इलाके के नैना विहार में उसके सहयोगी किशन लाल सैनी के परिसर पर भी छापेमारी की। जांच एजेंसी ने कहा कि छापेमारी के दौरान कई भूखंड, बेनामी संपत्ति के दस्तावेज मिले।

Next Story