Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कृषि विधेयक के विरोध में आज कांग्रेस राष्ट्रपति को सौंपेगी दो करोड़ किसानों के हस्ताक्षरों का ज्ञापन

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए नए कृष विधेयकों को लेकर देश में राजनीतिक हलचल तेज है। एक तरफ किसानों ने इन विधेयकों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर केंद्र सरकार के खिलाफ हल्ला बोला हुआ है वहीं, दूसरी तरफ केंद्र सरकार को घेरने के लिए विपक्ष की कसर नहीं छोड़ रहा है। कृषि विधेयकों के विरोध में कांग्रेस आज दो करोड़ किसानों के हस्ताक्षरों का ज्ञापन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को सौंपेंगी।

कृषि विधेयकों के विरोध में आज कांग्रेस राष्ट्रपति को सौंपेगी दो करोड़ किसानों के हस्ताक्षरों का ज्ञापन
X

किसान हस्ताक्षर ज्ञापन

जयपुर। केंद्र सरकार द्वारा लाए गए नए कृष विधेयकों को लेकर देश में राजनीतिक हलचल तेज है। एक तरफ किसानों ने इन विधेयकों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर केंद्र सरकार के खिलाफ हल्ला बोला हुआ है वहीं, दूसरी तरफ केंद्र सरकार को घेरने के लिए विपक्ष की कसर नहीं छोड़ रहा है। कृषि विधेयकों के विरोध में कांग्रेस आज दो करोड़ किसानों के हस्ताक्षरों का ज्ञापन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को सौंपेंगी। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के नेतृत्व कांग्रेस के शीर्ष नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल आज दोपहर राष्ट्रपति से मुलाकात करेगा और 2 करोड़ किसानों के हस्ताक्षरों का ज्ञापन सौंपकर केंद्र के तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग करेंगे।

राजस्थान में 15 लाख किसानों ने किए हस्ताक्षर

राजस्थान को भी 10 लाख किसानों के हस्ताभर का लक्ष्य दिया गया था, जिस पर राजस्थान ने निर्धारित 10 लाख के टारगेट को पीछे छोड़ते हुए लगभग 15 लाख किसानों के हस्ताक्षर कराकर दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय को भेजा था। इसी से पता चलता है कि राजस्थान में किसान इन विधेयकों के खिलाफ किस हद तक विरोध में हैं। पंजाब में किसानों ने इन विधेयकों के खिलाफ केंद्र सरकार के खिलाफ हल्ला बोल रखा है और किसी भी कीमत पर इन विधेयकों को मानने के लिए राजी नहीं हैं।

कब से शुरू हुआ यह अभियान

दरअसल केंद्र के कृषि कानूनों का सड़कों पर विरोध करने के साथ ही कांग्रेस ने देश भर में 2 अक्टूबर से दो करोड़ किसानों के हस्ताक्षर का लक्ष्य रखा था। इसमें सभी राज्यों में प्रदेश कांग्रेस इकाइयों को हस्ताक्षर अभियान का टारगेट दिया गया था।

Next Story