Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राजस्थान में कृषि कानूनों के खिलाफ सड़क पर उतरी कांग्रेस, धरना प्रदर्शन कर जताया विरोध

इन कानूनों के विरोध में बीते कई माह में विरोध प्रदर्शन कर चुकी कांग्रेस एक बार फिर पूरी ताकत के साथ कृषि कानूनों के विरोध और किसानों के समर्थन में आज देशभर में सड़कों पर उतर चुकी है। देश के सभी राज्यों में आज केंद्रीय कानूनों के विरोध में प्रदर्शन किया गया।

राजस्थान में कृषि कानूनों के खिलाफ सड़कों पर उतरी कांग्रेस, धरना प्रदर्शन कर जताया विरोध
X

राजस्थान में कृषि कानूनों के खिलाफ सड़कों पर उतरी कांग्रेस

जयपुर। केंद्र सरकार द्वारा लाए गए नए कृषि विधेयकों को लेकर विवाद कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है। एक तरफ किसान दिल्ली अपनी मांगों को लेकर अड़े हैं वहीं दूसरी तरफ विपक्ष केंद्र सरकार पर इन विधेयकों को लेकर जमकर हमला बोल रहा है। फिलहाल राजनीतिक गलियारों में नए कृषि विधेयकों को लेकर हलचल तेज है। वहीं इन कानूनों के विरोध में बीते कई माह में विरोध प्रदर्शन कर चुकी कांग्रेस एक बार फिर पूरी ताकत के साथ कृषि कानूनों के विरोध और किसानों के समर्थन में आज देशभर में सड़कों पर उतर चुकी है। देश के सभी राज्यों में आज केंद्रीय कानूनों के विरोध में प्रदर्शन किया गया। राजधानी जयपुर में भी प्रदेश कांग्रेस की ओर से किसानों के समर्थन और कृषि कानूनों के विरोध में धरना प्रदर्शन किया जा रहा है। इस धरने को किसान अधिकार दिवस का नाम दिया गया है। सुबह से दोपहर 2 बजे तक सिविल लाइंस फाटक पर हो रहे प्रदर्शन में पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा, मंत्रिमंडल के सदस्य, विधायक और प्रदेश कांग्रेस के पदाधिकारी शामिल हो रहे हैं। धरने में शामिल होने के लिए प्रदेश प्रभारी अजय माकन सुबह दिल्ली से जयपुर पहुंचने वाले थे लेकिन जिस फ्लाइट से उनको आना था वह रद्द हो गई।

इस धरने को किसान अधिकार दिवस का नाम दिया गया

प्रदेश कार्यकारिणी की घोषणा होने के बाद प्रदेश कांग्रेस का यह पहला बड़ा कार्यक्रम है। इस धरने को किसान अधिकार दिवस का नाम दिया गया है। वहीं प्रदेश प्रभारी अजय माकन के नेतृत्व में भी पीसीसी का यह पहला धरना प्रदर्शन है, जिसमें माकन स्वयं शामिल होने वाले थे। धरने के दौरान कांग्रेस नेता केंद्र के कृषि कानूनों की खामियां गिनाईं। उधर, धरने के दौरान कोरोना गाइडलाइन की पालना होते नहीं दिखी। हालांकि मंच से बार-बार गाइडलाइन की पालना करने के निर्देश दिए जा रहे थे।

धरने में ये रहे मौजूद

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट, परिवहन मंत्री प्रताप सिंह, मुख्य सचेतक महेश जोशी, कैबिनेट मंत्री बीड़ी कल्ला, पूर्व केंद्रीय मंत्री नमोनारायण मीणा, मंत्री टीकाराम जूली, मंत्री ममता भूपेश, कृषि मंत्री लालचन्द कटारिया, कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव तरुण कुमार, कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता मोहन प्रकाश, राज्यसभा सांसद नीरज डांगी, विधायक गंगा देवी, पूर्व महापौर ज्योति खंडेलवाल, वक्फ बोर्ड चेयरमैन खानू खान, यूएडीएच मंत्री शांति धारीवाल, प्रदेश कांग्रेस की उपाध्यक्ष नसीम अख्तर इंसाफ, पीसीसी सचिव ललित तूनवाल, कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव कुलदीप इंदौरा, और निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा आदि।

Next Story