Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सीएम गहलोत ने पुलिस व अधिकारियों को दिए निर्देश, कोविड केयर अस्पतालों में प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ करें कड़ी कार्रवाई

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति पर विशेषज्ञ चिकित्सकों तथा अधिकारियों के साथ गहन चर्चा करते हुए पुलिस तथा प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रोटोकॉल का उल्लघंन करने वालों के खिलाफ महामारी अधिनियम के तहत कड़ी कार्रवाई करें।

सीएम गहलोत ने पुलिस व अधिकारियों को दिए निर्देश- कोविड केयर अस्पतालों में प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ करें कड़ी कार्रवाई
X
अशोक गहलाेत

जयपुर। राजस्थान में कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा भयावह रूप लेता जा रहा है। प्रदेश में कोरोना वायरस के कुल मामले 66 हजार को पार कर गए हैं। जबकि अब इस जानलेवा वायरस से प्रदेश में 921 लोगों की जान भी जा चुकी है। कोरोना को लेकर राज्य की स्थिति ने प्रदेश की चिंता में इजाफा करा हुआ है। इसी को देखते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति पर विशेषज्ञ चिकित्सकों तथा अधिकारियों के साथ गहन चर्चा करते हुए पुलिस तथा प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रोटोकॉल का उल्लघंन करने वालों के खिलाफ महामारी अधिनियम के तहत कड़ी कार्रवाई करें।

कोविड केयर अस्पतालों की गहन चिकित्सा इकाइयों (आईसीयू) तथा वार्डों में कर्मठता से काम करने वाले चिकित्सकों, नर्सिंगकर्मियों को अतिरिक्त मानदेय देने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार आमजन के जीवन की रक्षा करने के लिए नियमों से कोई समझौता नहीं करेगी और प्रदेश में सभी को स्वास्थ्य सुरक्षा के नियमों का पालन करना होगा। उन्होंने कहा कि शादी-विवाह तथा अन्य सामाजिक आयोजनों में सरकार द्वारा तय किए गये नियमों का पालन नहीं करने पर आयोजकों के साथ-साथ इसमें भाग लेने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाए। गहलोत ने स्वास्थ्य अधिकारियों से कहा कि हर एक नागरिक का जीवन बचाना राज्य सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने इसके लिए अस्पतालों में उपचाराधीन मरीजों की देखभाल में कोई कोताही नहीं बरतने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि संसाधनों की कोई कमी नहीं है। अधिकारी गंभीर मरीजों के इलाज की रात्रिकालीन पारी में उच्च स्तर पर विशेष रूप से कड़ी निगरानी करें। गहलोत ने पिछले 15 दिनों के दौरान कोरोना वायरस के मरीजों की लगातार बढती संख्या पर चिंता जताते हुए कहा कि राज्य सरकार ने दूर-दराज तक के अस्पतालों में स्वास्थ्य सेवाओं के आधारभूत ढ़ांचे को मजबूत किया है तथा आवश्यकता पड़ने पर इसके लिए और अधिक संसाधन उपलब्ध कराए जाएंगे।

Next Story