Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सीएम गहलोत ने लोगों से की अपील- मुख्‍यमंत्री चिरंजीवी योजना के लिए बढ़-चढ़कर पंजीकरण करवाएं

मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने लोगों से राज्‍य सरकार की महत्‍वाकांक्षी मुख्‍यमंत्री चिरंजीवी योजना से जुड़ने की अपील की है ताकि उनके परिवारों को पांच लाख रुपये तक के स्‍वास्‍थ्‍य बीमा का लाभ मिल सके।

सीएम गहलोत ने लोगों से की अपील- मुख्‍यमंत्री चिरंजीवी योजना के लिए पंजीकरण करवाएं
X

मुख्‍यमंत्री चिरंजीवी योजना

जयपुर। राजस्थान में कोरोना वायरस (Rajasthan Corona Virus) संक्रमितों की बढ़ती संख्‍या के बीच मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने लोगों से राज्‍य सरकार की महत्‍वाकांक्षी मुख्‍यमंत्री चिरंजीवी योजना से जुड़ने की अपील की है ताकि उनके परिवारों को पांच लाख रुपये तक के स्‍वास्‍थ्‍य बीमा का लाभ मिल सके। गहलोत ने ट्वीट किया कि मैं चिंतित हूं कि कई लोग लापरवाही और जानकारी के अभाव में मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना (MukhyaMantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana) से जुड़ नहीं पा रहे हैं। मैं पुनः सबसे अपील करता हूं कि 30 अप्रैल तक चिरंजीवी योजना में पंजीकरण (Registration) करवा लें जिससे एक मई से उन्हें सपरिवार पांच लाख रुपये के बीमा का लाभ मिल सके।

इस योजना में कोरोना वायरस का इलाज भी शामिल

इस योजना में कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज भी शामिल है। इसके साथ ही गहलोत ने सोशल मीडिया इस्तेमाल करने वाली युवा पीढ़ी से आह्वान किया कि वह अपने आसपास के लोगों को मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना की जानकारी दें और नजदीकी ई-मित्र केन्द्र पर उनका पंजीकरण करवाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा उद्देश्य है कि यदि एक मई के बाद प्रदेश में कोई अस्वस्थ हो तो उसे अपने इलाज के लिए स्वयं कोई राशि खर्च ना करनी पडे़ क्योंकि बिना पंजीकरण उनके लिए बीमा कंपनी भुगतान नहीं करेगी।

राज्य के बजट में की थी योजना की घोषणा

उल्लेखनीय है कि गहलोत ने इस साल के राज्य के बजट में मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना की घोषणा की थी। इसके तहत राज्य के प्रत्येक परिवार को प्रतिवर्ष पांच लाख रुपये तक का निशुल्क इलाज सरकारी और सम्बद्ध निजी अस्पतालों में दिया जायेगा। अधिकारियों के अनुसार पूर्ववर्ती स्वास्थ्य बीमा योजना में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम और सामाजिक आर्थिक जनगणना के पात्र लाभार्थियो को योजना का लाभ मिल रहा था, अब मुख्यमंत्री की बजट घोषणा के अनुरूप राज्य के संविदाकर्मियों, लघु एवं सीमांत कृषकों को भी निःशुल्क चिकित्सा सुविधा का लाभ मिल पायेगा।

Next Story