Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पेश की मिसाल : बावर्ची के पास बेटियों की शादी कराने के नहीं थे पैसे, थानेदार ने पुलिसकर्मियों के साथ मिलकर भरा लाखों रुपये का मायरा

वैसे तो हमारे देश में पुलिसकर्मियों के खिलाफ अधिकतर नकारात्मक सोच ही रखते हैं। लोगों ने पुलिस के प्रति गलत मानसिकता बना रखी है। लेकिन राजस्थान के सिरोही में थानाधिकारी ने पुलिसकर्मियों के साथ मिलकर दरियादिली की ऐसी मिसाल पेश की है जिसे सुनकर आप भी हैरान रह जाएंगे।

पेश की मिसाल : बावर्ची के पास बेटियों की शादी कराने के नहीं थे पैसे, थानेदार ने पुलिसकर्मियों के साथ मिलकर भरा लाखों का मायरा
X

पुलिस ने पेश की मिसाल

सिरोही। वैसे तो हमारे देश में पुलिसकर्मियों के खिलाफ अधिकतर लोग नकारात्मक सोच ही रखते हैं। लोगों ने पुलिस के प्रति गलत मानसिकता बना रखी है, लेकिन राजस्थान के सिरोही में थानाधिकारी ने पुलिसकर्मियों के साथ मिलकर दरियादिली की ऐसी मिसाल पेश की है जिसे सुनकर आप भी हैरान रह जाएंगे। यहां पालडी एम पुलिस ने थाने में खाना बनाने वाले की बेटियों की शादी के लिए खुद पैसा जमा कर मायरा (दहेज) दिया है।

दरअसल पालडीएम थाने में खाना बनाने वाले गोल निवासी मंछाराम कुमावत की दो बेटियों की सोमवार को थी। थाने में खाना बनाने वाले मंछाराम के पास बेटियों की शादी के लिए पैसे नहीं थे। इसकी जानकारी थाने के स्टाफ को मिली तो थाना अधिकारी सुजानाराम विश्नोई ने अनूठी पहल करने की ठानी, उन्होंने थाने के स्टॉफ को दोनों बेटियों की शादी का मायरा भरने के लिए प्रोत्साहित किया। थानाधिकारी ने पुलिसकर्मियों के साथ मिलकर उनकी बेटी की शादी के लिए एक लाख एक हजार रुपये का मायरा भरा।

थानाधिकारी ने शुरू की पहल

थानाधिकारी ने खुद पहल करते हुए थाने के स्टाफ के साथ मिलकर एक लाख एक हजार रुपए एकत्रित किए। सोमवार को थाना अधिकारी उनके स्टाफ के साथ बेटियों की शादी में शामिल होने के लिए गोल गांव पहुंचे। वहां बेटियों की शादी के लिए सोने की दो अंगूठी पूरे परिवार के लिए कपड़े व 41 हजार रुपए की राशि का मायरा भरा। पालड़ी एम थाने की ओर से भरे गए इस मायरे की रस्म को देखने के लिए गोल गांव के प्रबुद्ध लोग भी पहुंचे। इस दौरान थाना अधिकारी सुजानाराम के साथ हेड कांस्टेबल गिरधारी सिंह भाटी, कांस्टेबल पपाराम, महेंद्रराज दमामी, हरमेश कुमार, बालाराम, हरीश जाणी, दिनेश कुमार, कपिलदेव, छोटू लाल चैनसिंह, अशोक कुमार, मुकेश कुमार व महिला कांस्टेबल प्रमिला व परमेश्वरी मौजूद रही।

Next Story