Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Rajasthan Corona Vaccination : राजस्थान में कोरोना टीकाकारण अभियान का सीएम अशोक गहलोत ने किया शुभारंभ, जानिए किसे दी गई पहली खुराक

राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य स्तरीय कोविड वैक्सीनेशन कार्यक्रम का आगाज किया। इसके साथ ही सभी जिलों में कोरोना टीकाकरण शुरू हो गया। बता दें कि जयपुर में एसएमएस मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य एवं नियंत्रक डॉ. सुधीर भंडारी को वैक्सीन की पहली डोज दी गई।

अशोक गहलोत ने केंद्र सरकार से की अपील- कोरोना पर काबू पाने के लिए राज्यों को आधिक से अधिक टीके उपलब्ध करवाएं
X

अशोक गहलोत

जयपुर। भारत ने कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने के लिए वैक्सीन की शुरुआत कर दी है। पिछले काफी समय से यही अटकलें लगाई जा रही थीं कि कोरोना को हराने वैक्सीन कब भारत में आएगी। मगर अब इंतिजार खत्म हो गया है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से टीकाकरण अभियान का शुभारंभ किया। राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य स्तरीय कोविड वैक्सीनेशन कार्यक्रम का आगाज किया। इसके साथ ही सभी जिलों में कोरोना टीकाकरण शुरू हो गया। बता दें कि जयपुर में एसएमएस मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य एवं नियंत्रक डॉ. सुधीर भंडारी को वैक्सीन की पहली डोज दी गई। प्रदेश में पहले दिन 161 केन्द्रों पर कोविशील्ड और जयपुर के 6 केन्द्रों पर कोवैक्सीन की डोज दी जाएगी। राजस्थान को 13 जनवरी को 2 कंपनियों के 563500 वैक्सीन डोज मिले हैं, जिन्हें सभी जिलों को आवश्यकता के अनुसार उपलब्ध कराया गया है। कार्मिक को 0.5 एमएल की पहली खुराक दी जाएगी। इसके 28 दिन बाद दूसरी खुराक उसी कंपनी की 0.5 एमएल दी जाएगी।

कोरोना से जंग लड़ने में सरकार नहीं रखेगी कोई कमी

मुख्यमंत्री ने कहा कि लंबे समय से वेक्सीन का इंतजार था, जो अब खत्म हो गया है। कोरोना से जंग लड़ने में सरकार ने कोई कमी नहीं रखी। सबसे पहले लॉकडाउन राजस्थान में लगाया गया। इस दौरान ट्रेनों और बसों के जरिए लोगों को उनके घर भेजा गया। गहलोत ने कहा कि कोरोना प्रबंधन के चलते भीलवाड़ा देश-विदेश में चर्चा का विषय बना। केंद्र सरकार ने भी भीलवाड़ा मॉडल की तारीफ की।

अभी जारी रहेगा कोरोना प्रोटोकॉल

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कोरोना के चलते जो प्रोटोकॉल लागू किया गया है, उसे वेक्सीन लगाने के बाद भी निभाना पड़ेगा। तभी हम कोरोना की चैन तोड़ पाएंगे। जनता को आश्वस्त करते हुए गहलोत ने कहा कि वैक्सीन से घबराने की ज रूरत नही है, क्योंकि काफी परीक्षण के बाद ही वैक्सीन आई है। मुख्यमंत्री ने कोरोना वारियर्स को धन्यवाद देते हुए कहा कि सभी ने मिलकर कोरोना से जंग लड़ी। अगर कोई कोरोना वॉरियर्स की ड्यूटी के दौरान मौत होती है तो राज्य सरकार उसे 50 लाख रुपए देगी।

Next Story