Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Rajasthan Unlock : इस मंदिर के खुलते ही भक्तों का इतना आया चढ़ावा कि प्रबंधक भी हो गए हैरान

राजस्थान के चित्तौड़गढ़ में स्थित मशहूर मंदिर में सांवलिया जी में भक्तों की लंबी लाइनें हर समय लगी रहती हैं। यहां भक्तों का ऐसा सैलाब उमड़ रहा है कि मंदिर के भंडारे को जब 10 दिन बाद खोला गया है तो दस दिनों में इतना चढ़ावा आया कि मंदिर के प्रबंधकों की आंखें खुली की खुली ही रह गईं।

Rajasthan Unlock : इस मंदिर के खुलते ही भक्तों का इतना आया चढ़ावा कि प्रबंधक भी हो गए हैरान
X

राजस्थान अनलॉक

जयपुर। राजस्थान में कोरोना वायरस का प्रकोप कम होते ही प्रदेश में लगी पाबंदियां अब हटा दी गई हैं। प्रदेश हालात धीरे-धीरे सामान्य होते जा रहे हैं। वहीं यहां मंदिर खुलते ही श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ रही है। राजस्थान के चित्तौड़गढ़ में स्थित मशहूर मंदिर में सांवलिया जी में भक्तों की लंबी लाइनें हर समय लगी रहती हैं। यहां भक्तों का ऐसा सैलाब उमड़ रहा है कि मंदिर के भंडारे को जब 10 दिन बाद खोला गया है तो दस दिनों में इतना चढ़ावा आया कि मंदिर के प्रबंधकों की आंखें खुली की खुली ही रह गईं। इस मंदिर में बीते 10 दिनों में ही रिकॉर्ड 3,12,72,600 रुपया भेंट राशि निकली। इतना ही नहीं भंडारे की पेटी से 33 ग्राम सोना और 1370 ग्राम चांदी भी निकली। फ़िलहाल सिक्कों की गिनती जारी है।

आपको बता दें कि कोरोना की वजह से देश के मंदिरों की तरह ही राजस्थान के भी मंदिरों को बंद किया गया था। पिछले 11 अप्रैल से ही सांवलियाजी मंदिर में भी श्रद्धालुओं का प्रवेश बंद था। मगर 28 जून से इसे वापस खोल दिया गया था। वैसे तो सांवलियाजी में अमावस्या के पूर्व चतुर्दशी पर ही भंडारा खोला जाता है, मगर इस बार 8 जुलाई को ही चतुर्दशी होने की वजह दस दिन में ही भंडारा खोलना पड़ा। लेकिन जैसे मंदिर के प्रबंधकों ने भंडारे को खोला वे आश्चर्य में पड़ गए। क्योंकि 10 दिन में ही भक्तों ने इतना चढ़ावा डाल दिया।

अभी भी गिनती जारी

मंदिर मंडल अध्यक्ष कन्हैया दास वैष्णव और तहसीलदार भंवरलाल चोपड़ा की मौजूदगी में राजभोगआरती के बाद भंडारा खोला गया था और अभी भी गिनती जारी है।

Next Story