Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिटिया के पैदा होने पर पिता ने कुछ यूं मनाया जश्न, ननिहाल से घर लाने के लिए किराये पर लिया हेलीकॉप्टर

राजस्‍थान में एक व्‍यक्ति ने अपनी बेटी के जन्म का जश्न मनाने और उसे पहली बार घर लाने के लिए हेलीकॉप्टर किराए पर लिया। हेलीकॉप्‍टर से नवजात को पहली बार उसके ननिहाल से उसके पैतृक घर लाया गया।

बिटिया के पैदा होने पर पिता ने कुछ यूं मनाया जश्न, ननिहाल से घर लाने के लिए किराऐ पर लिया हेलीकॉप्टर
X

हेलीकॉप्टर में नवजात को घर लाया पिता

जयपुर। आज भी देश में कई ऐसी जगह हैं जहां बेटियों के जन्म पर ज्यादा खुशी नहीं मनाई जाती है। यह मानव जाति का एक ऐसा मसला है जो अक्सर गांव देहात में आज भी कायम है। ऐसे ही लोगों को मुंह तोड़ जवाब देने के लिए इस पिता का यह काम ही बाकी है। जिसने बेटी के होने पर ऐसा जश्न मनाया कि हर कोई देखता रह गया। राजस्थान (Rajasthan) के नागौर (Nagaur) जिले के निंबड़ी चांदावतां गांव में व्‍यक्ति ने बेटी के जन्म लेने पर बेहतरीन जश्न मनाया। इतना ही नहीं उसने बेटी को पहली बार घर लाने के लिए हेलीकॉप्टर (Helicopter) किराए पर लिया। हेलीकॉप्‍टर से नवजात (Newly Born) को पहली बार उसके ननिहाल से उसके पैतृक घर लाया गया।

स्थानीय निवासी हनुमान प्रजापत ने अपनी बेटी को पहली बार उसके ननिहाल से लाने के लिए हेलीकॉप्‍टर किराए पर लिया। उन्होंने बताया कि हम अपनी बेटी का पहली बार अपने घर आंगन में आगमन को विशेष बनाना चाहते थे। मेरी बेटी, मेरे व मेरे परिवार के लिए कितनी खास है यह जताने के लिए मैं अधिक से अधिक यही कर सकता था। हनुमान की पत्नी चुकी देवी ने तीन मार्च को नागौर जिला अस्पताल में बच्ची को जन्‍म दिया था। प्रसव के बाद देखभाल के लिए वह अपने मायके हरसोलाव गाँव चली गई थी।

पिता मदनलाल की इच्छा पर बनाई यह योजना

हनुमान के अनुसार यह उनके पिता मदनलाल की इच्छा थी कि बच्‍ची के जन्म को पूरे दिल से मनाया जाए तो बेटी को पहली बार घर हेलीकॉप्टर से लाने की योजना बनाई गई। निम्बड़ी चांदावता से हरसोलाव की दूरी सड़क मार्ग से लगभग 40 किलोमीटर की दूरी है और हेलीकॉप्‍टर से यह दूरी तय करने में लगभग 10 मिनट लगते हैं। हनुमान ने लड़के लड़की में भेद नहीं करने पर जोर देते हुए कहा कि बेटी (रिया) के जन्‍म से उनका पूरा परिवार बहुत खुश है।

Next Story