Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राजस्थान चिकित्सा विभाग की बढ़ी टेंशन- ब्रिटेन से आए 17 लोगों का कुछ अता पता नहीं, सभी जिलों को अलर्ट जारी

राजस्थान में कोरोना वायरस का प्रकोप कुछ कम होता दिख रहा था कि अब एक नई परेशानी सरकार के सामने खड़ी हो गई है। कोरोना वायरस के बदले रूप को लेकर प्रदेश सरकार के सामने चुनौती खड़ी हो गई है। दरअसल ब्रिटेन से राजस्थान आए 17 लोगों का कुछ अता पता नहीं है।

राजस्थान चिकित्सा विभाग की बढ़ी टेंशन- ब्रिटेन से आए 17 लोगों का कुछ अता पता नहीं, सभी जिलों को अलर्ट जारी
X

ब्रिटेन से राजस्थान आए 17 लोगों का कुछ अता पता नहीं

जयपुर। राजस्थान में कोरोना वायरस का प्रकोप कुछ कम होता दिख रहा था कि अब एक नई परेशानी सरकार के सामने खड़ी हो गई है। कोरोना वायरस के बदले रूप को लेकर प्रदेश सरकार के सामने चुनौती खड़ी हो गई है। दरअसल ब्रिटेन से राजस्थान आए 17 लोगों का कुछ अता पता नहीं है। राज्य का स्वास्थ्य विभाग इन लोगों को ट्रेस नहीं कर पा रहा है। ऐसे में इस नई बीमारी का राज्य में फैलने का खतरा बढ़ गया है। इन्हें ढूंढने के लिए विभाग ने सभी जिलों को अलर्ट जारी किया है और पुलिस को सूची सौंपी है। जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को मामले की निगरानी करने के लिए कहा है। विभाग ने चेताया है कि जो भी व्यक्ति आगे बढ़कर सहयोग नहीं करेगा, उस पर महामारी एक्ट में मामला दर्ज कराया जाएगा। दरअसल, विभाग की लेटलतीफी इस मामले में शुरू से भारी पड़ती दिख रही है। दिल्ली में तो नवंबर से अब तक आए लोगों की ट्रेसिंग शुरू हो चुकी है जबकि राजस्थान में पिछले 15 दिन में आए लोगों में से भी विभाग सभी को नहीं ढूंढ पाया है। उधर, देश में वायरस के स्ट्रेन की जांच के लिए एकमात्र जांच लैब पुणे में है, जहां सैम्पलों का अंबार लग गया है। राज्य के अधिकारियों का कहना है कि वहां से रिपोर्ट मिलने में अभी 7-8 दिन लग सकते हैं।

कोरोना को लेकर स्थिति में सुधार

राज्य में सोमवार को 798 नए कोरोना मरीज मिले जबकि 7 मरीजों की मौत हो गई। चार महीने बाद फिर सर्वाधिक 100 नए मरीज जोधपुर जिले में मिले हैं। इससे पहले अगस्त के अंतिम सप्ताह तक जोधपुर में जयपुर से ज्यादा संक्रमित मिल रहे थे। जयपुर जिले में 76 नए मरीज मिले हैं। राज्य में अब कुल संक्रमित 306158 और कुल मृतक 2677 हो गए हैं।

Next Story