Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सीएम गहलोत ने दी मंजूरी- राजस्थान की 1656 km लम्बी सड़कें राजमार्गों में की जाएगी तब्दील

सरकारी बयान के अनुसार गहलोत ने राज्य बजट 2021-22 में राज्य भर में दूरदराज के क्षेत्रों को जोड़ने वाली ग्रामीण, अन्य जिला एवं मुख्य जिला सड़कों को राजमार्गों में तब्दील करने की घोषणा की थी।

सीएम गहलोत ने दी मंजूरी- राजस्थान की 1656 km लम्बी सड़कें राजमार्गों में की जाएगी तब्दील
X

राजस्थान सड़कें

जयपुर। राजस्थान में 20 जिलों की कुल 1656 km लम्बाई की ग्रामीण, जिला एवं मुख्य जिला सड़कों को राज्य राजमार्गों में तब्दील किया जाएगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने इसके लिए सार्वजनिक निर्माण विभाग (public works department) के प्रस्ताव का अनुमोदन कर दिया है। सरकारी बयान के अनुसार गहलोत ने राज्य बजट 2021-22 में राज्य भर में दूरदराज के क्षेत्रों को जोड़ने वाली ग्रामीण, अन्य जिला एवं मुख्य जिला सड़कों को राजमार्गों में तब्दील करने की घोषणा की थी।

इस क्रम में संबंधित जिलों से प्रस्ताव प्राप्त होने के बाद उन पर विचार और विश्लेषण करके कुल 1712 किलोमीटर से अधिक लम्बाई की सड़कों को राजमार्ग का दर्जा देने को स्वीकृति दी गई है। लगभग 56 किलोमीटर लम्बाई में दोहराव के चलते राज्य राजमार्ग घोषित होने वाली सड़कों की वास्तविक लम्बाई लगभग 1656 किलोमीटर है। स्वीकृत प्रस्ताव के अनुसार, बाड़मेर (Barmer) जिले में 181 किलोमीटर लम्बी दो सड़कें, सवाईमाधोपुर (Sawai madhipur) और करौली (Karauli) से गुजरने वाली 199 किलोमीटर लम्बी दो सड़कें, टोंक (Tonk) से सवाईमाधोपुर होकर करौली जिले तक जाने वाली 158 किलोमीटर लम्बी सड़क, नागौर से अजमेर होकर जयपुर (Jaipur) जिले तक जाने वाली 172 किलोमीटर लम्बी सड़क तथा धौलपुर और करौली से गुजरने वाली 137 किलोमीटर लम्बी सड़क राज्य राजमार्ग घोषित की जाएंगी।

उल्लेखनीय है कि दौसा (Dausa), अलवर (Alwar) एवं सवाईमाधोपुर से गुजरने वाली 88 किलोमीटर लम्बाई की सड़कों, भीलवाड़ा से राजसमंद होकर अजमेर जिले तक जाने वाली 75 किलोमीटर लम्बी सड़क, भीलवाड़ा से अजमेर होकर नागौर जिले तक जाने वाली 69 किलोमीटर लम्बी सड़क, कोटा और झालावाड़ से गुजरने वाली 60 किलोमीटर सड़क तथा बारां से कोटा होकर झालावाड़ जिले तक जाने वाली 49 किलोमीटर लम्बी सड़क को भी राजमार्ग बनाया जाना प्रस्तावित है।

Next Story