Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पंजाब में कोरोना से मरनेवालों का बढ़ रहा आंकड़ा, मृत्युदर घटाने के लिए केंद्रीय टीमें होंगी तैनात

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने पंजाब और चंडीगढ़ में कोविड-19 महामारी की मृत्युदर घटाने के वास्ते नियंत्रण, निगरानी, परीक्षण और मरीजों के प्रभावी चिकित्सा प्रबंधन के लिए जनस्वास्थ्य उपायों को मजबूत करने में वहां के प्रशासनों को सहयोग पहुंचाने लिए केंद्रीय दल तैनात करने का निर्णय लिया है।

पंजाब में कोरोना से मरनेवालों को बढ़ रहा आंकड़ा, मृत्युदर घटाने के लिए केंद्रीय टीमें होंगी तैनात
X
पंजाब जाएंगी केंद्रीय टीमें

नई दिल्ली/चंडीगढ़। पंजाब में कोरोना वायरस का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है। यहां सबसे ज्यादा चिंताजनक बात यह है कि प्रदेश में कोरोना वायरस से मरनेवालों का आंकड़ा भी बहुत तेजी से बढ़ रहा है। इसी को मद्देनजर रखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने पंजाब और चंडीगढ़ में कोविड-19 महामारी की मृत्युदर घटाने के वास्ते नियंत्रण, निगरानी, परीक्षण और मरीजों के प्रभावी चिकित्सा प्रबंधन के लिए जनस्वास्थ्य उपायों को मजबूत करने में वहां के प्रशासनों को सहयोग पहुंचाने लिए केंद्रीय दल तैनात करने का निर्णय लिया है।

संक्रमण के मामले 61 हजार के पार

पंजाब में कोविड-19 संक्रमण के मामले 61,527 तक पहुंच चुके हैं जिनमें फिलहाल 15,870 मरीजों का उपचार चल रहा है। राज्य में महामारी से 1808 लोगों की जान जा चुकी है। मंत्रालय ने कहा कि राज्य में प्रति दस लाख पर जांच 37,546 है (राष्ट्रीय औसत प्रति दस लाख पर 34593.1 है।) चंडीगढ़ में फिलहाल 2140 मरीज उपचाराधीन हैं जबकि शहर में अबतक इसके 5502 मामले सामने आए। यहां प्रति दस लाख पर जांच 38,054 है और संक्रामण दर 11.99 फीसद है। मंत्रालय ने कहा कि उच्च स्तरीय दल राज्य और केंद्रशासित प्रदेश को नियंत्रण, निगरानी, परीक्षण और मरीजों के प्रभावी चिकित्सा प्रबंधन के लिए जनस्वास्थ्य उपायों को मजबूत करने में सहयोग करेंगे ताकि मृत्यु दर घटे और जिंदगियां बचायी जा सकें। इसने यह भी कहा कि वे समय से बीमारी का पता लगाने और उसके बाद के जरूरी कदमों से जुड़ी चुनौतियों के प्रभावी समाधान के लिए मार्गदर्शन करेंगे। इन दो सदस्यीय टीमों में पजीआईएमईआर के सामुदायिक मेडिसीन विशेषज्ञ और राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केद्र के महामारीविज्ञानी होंगे। दोनों टीमें दस दिनों के लिए पंजाब और चंडीगढ़ में रहेंगी तथा कोरोना वायरस संक्रमण के प्रबंधन में मार्गदर्शन करेंगी।

Next Story