Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर पंजाब ऑक्सीजन के स्थानीय उत्पादन में बढ़ोत्तरी करेगा

पंजाब में कोरोना वायरस कहर बरपा रहा है। प्रदेश में कोरोना वायरस ने स्थिति चिंताजनक बनाई हुई है। काेरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिया कि वे वर्तमान जरूरत को पूरा करने के लिए चिकित्सा ऑक्सीजन के स्थानीय उत्पादन में वृद्धि करें।

कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर पंजाब ऑक्सीजन के स्थानीय उत्पादन में बढ़ोत्तरी करेगा
X
पंजाब ऑक्सीजन उत्पादन बढ़ोतरी

चंडीगढ़। पंजाब में कोरोना वायरस कहर बरपा रहा है। प्रदेश में कोरोना वायरस ने स्थिति चिंताजनक बनाई हुई है। काेरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिया कि वे वर्तमान जरूरत को पूरा करने के लिए चिकित्सा ऑक्सीजन के स्थानीय उत्पादन में वृद्धि करें।

अधिकारियों ने कहा कि भविष्य के किसी भी संकट से निपटने के लिए ऑक्सीजन की कमी का सामना नहीं करना पड़े, इसके मद्देनजर यह कदम उठाया गया। अब तक पंजाब अपनी ऑक्सीजन की आवश्यकताओं को अन्य राज्यों जैसे उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और हरियाणा से पूरा कर रहा था।

हालांकि, जैसे-जैसे मामले बढ़ रहे हैं और देश के कई हिस्सों में ऑक्सीजन की कमी की रिपोर्ट आ रही है, ऐसे में मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के भीतर ही उत्पादन के जरिए अतिरिक्त आपूर्ति उत्पन्न करने की आवश्यकता है।

एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, इस निर्णय के तहत स्वास्थ्य विभाग ने अब तक एक औद्योगिक ऑक्सीजन आपूर्तिकर्ता को पंजाब में ही ऑक्सीजन का उत्पादन करने का लाइसेंस प्रदान किया है जबकि छह पैकिंग इकाइयों को चिकित्सा उपयोग के लिए ऑक्सीजन की पैकिंग की अनुमति दी गई है। इसके मुताबिक, भविष्य में ऑक्सीजन की मांग में वृद्धि होने पर अन्य राज्यों से होने वाली आपूर्ति और स्थानीय उत्पादन की सहायता से इससे निपटा जा सकेगा।

लुधियाना में सबसे ज्यादा मौतें दर्ज

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार अब तक पंजाब में संदिग्ध मामलों की संख्या 1410759 पहुंच गई है। इनमें पॉजिटिव पाए गए मरीजों की संख्या 82113 दर्ज की गई है। 58999 लोग ठीक हो चुके हैं। संक्रमण के 2496 नए मामलों में 10 के संक्रमण का स्रोत पंजाब से बाहर का बताया जा रहा है। लुधियाना में अब तक सबसे ज्यादा 588 मौतें हो चुकी हैं। इसके अतिरिक्त जालंधर में 259 और पटियाला में 249 लोग अब तक वायरस से जान गंवा चुके हैं।

Next Story