Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मालगाड़ियों के परिचालन पर रोक: पंजाब सरकार ने की रेल मंत्री पीयूष गोयल से हस्तक्षेप की मांग

पंजाब सरकार ने केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल से हस्तक्षेप करने को कहा कि जब रेलवे ने यह कहते हुए राज्य में मालगाड़ियों के परिचालन पर रोक बढ़ाने का फैसला किया कि प्रदर्शनकारी किसान अभी भी पटरियों को बाधित कर रहे हैं।

मालगाड़ियों के परिचालन पर रोक: पंजाब सरकार ने की रेल मंत्री पीयूष गोयल से हस्तक्षेप की मांग
X

मालगाड़ियों के परिचालन पर रोक

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए नए कृषि विधेयकों से देश में ये मामला तूल पकड़ता ही जा रहा है। पंजाब की बात करें तो यहां सबसे ज्यादा बवाल मचा हुआ है। किसान इन विधेयकों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं इन प्रदर्शनों से रेल सेवा सबसे ज्यादा प्रभावित हुई है। किसान पटरियों पर बैठ रेल रोको आंदोलन में डटे पड़े हैं।

वहीं पंजाब सरकार ने केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल से हस्तक्षेप करने को कहा कि जब रेलवे ने यह कहते हुए राज्य में मालगाड़ियों के परिचालन पर रोक बढ़ाने का फैसला किया कि प्रदर्शनकारी किसान अभी भी पटरियों को बाधित कर रहे हैं। किसान संघों के 21 अक्टूबर को केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ कई सप्ताह से जारी अपने रेल रोको आंदोलन से मालगाड़ियों को छूट देने की घोषणा की थी, जिसके बाद राज्य में उनका परिचालन बहाल हो गया था।

रेलवे ने 22 अक्टूबर को मालगाड़ियों का परिचालन शुरू किया था, लेकिन 23 अक्टूबर को दो दिनों के लिए निलंबित करने का निर्णय किया जब कुछ किसानों ने उनका आवागमन बाधित किया। सोमवार को राज्य में मालगाड़ियों के परिचालन पर रोक को 29 अक्टूबर तक बढ़ा दिया गया, जिसके बाद पंजाब सरकार, विपक्षी दलों और किसान संघों ने तीखी प्रतिक्रिया जतायी। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि यह कदम प्रदर्शनकारी किसानों को और भड़काएगा।

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने गोयल को पत्र लिखकर कहा कि यदि मालगाड़ियों का परिचालन तत्काल शुरू नहीं किया गया तो न केवल पंजाब बल्कि केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर और लद्दाख भी आर्थिक संकट का सामना करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों के साथ बातचीत की आंशिक सफलता के बाद पंजाब में माल ढुलाई बंद करने के रेलवे के फैसले ने राज्य के अब तक के प्रयासों को बेकार कर दिया है।

उन्होंने कहा कि इससे पहले राज्य सरकार किसान संघों को 22 अक्टूबर से सेवा आंशिक रूप से बहाल करने देने को लेकर मनाने में सफल रही थी। मुख्यमंत्री ने गोयल को लिखे अपने पत्र में कहा कि हालांकि, मालगाड़ियों की आवाजाही बहाल करने के बाद रेलवे ने इसे एकतरफा रोक दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस के चलते लागू लॉकडाउन के दौरान जब यात्री ट्रेनें पूरी तरह से बंद थीं तब भी मालगाड़ियां लगभग निर्बाध रूप से चलती रही थीं। उन्होंने कहा कि मालगाड़ियों का परिचालन रोकने का अब कोई ठोस कारण नहीं है।

Next Story