Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कैप्टन सरकार अब शराब माफियाओं पर ऐसे कसेगी शिकंजा, जानें पूरा प्लान

पंजाब की कैप्टन सरकार ने एक्साइज और टैक्सेशन विभाग को दो भागों में बांट दिया है। पंजाब में लगातार सरकार के मंत्रियों और विधायकों पर विपक्ष शराब माफियाओं को संरक्षण देने का आरोप लगा रहा है।

कैप्टन सरकार शराब माफियाओं पर ऐसे कसेगी शिकंजा, जानें पूरा प्लान
X
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंद्र सिंह

चंडीगढ़। पंजाब की कैप्टन सरकार ने एक्साइज और टैक्सेशन विभाग को दो भागों में बांट दिया है। पंजाब में लगातार सरकार के मंत्रियों और विधायकों पर विपक्ष शराब माफियाओं को संरक्षण देने का आरोप लगा रहा है। सरकार ने एक्साइज विंग की एक टीम भी गठित की है। कैप्टन सरकार ने शराब की तस्करी और टैक्स चोरी रोकने के लिए ये आवश्यक कदम उठाए हैं। सरकार ने शराब के कारोबार और शराब की तस्करी पर शिकंजा कसने के लिए एक्साइज को सभी जनपदों के हिसाब से जोनों में बांट दिया है। सरकार ने इसके लिए तीन प्रमुख जोन बनाए हैं।

जिनमें पटियाला जोन, जालंधर जोन और फिरोजपुर जोन बनाए गए हैं। इन सभी जोनों में अनेक नगर और जनपदों को रखा गया है। यहां से विभाग के अधिकारी तस्करी, नकली शराब व इंटर स्टेट माफियाओं पर कार्रवाई करने के साथ शराब के कारोबार से प्रदेश को मिलने वाले टैक्स पर खास तौर पर नजर रखेगा।

जिस भी जोन के अधिकारी के क्षेत्र में चोरी और तस्करी से संबंधित मामले सामने आएंगे वह अधिकारी उसके लिए सीधे तौर पर जिम्मेदार होगा और उस मामले में उस अधिकारी की पूरी जवाबदेही होगी। इसके साथ ही ऐसे अधिकारियों व कर्मचारियों को नौकरी से बाहर का रास्ता भी दिखाया जा सकता है। पंजाब में इस साल शराब से मिलने वाले आए टैक्स में कमी आने पर कैप्टन सरकार ने अपने राजस्व में बढ़ोतरी करने के लिए यह कदम उठाया है।

पटियाला जोन

पटियाला जोन में पटियाला-1 और 2, लुधियाना- ईस्ट और वेस्ट, फतेहगढ़ साहिब और एसएएस नगर और रोपड़ रहेंगे।

जालंधर जोन

जालंधर जोन में अमृतसर-1,2 और 3, तरनतारन, जालंधर- ईस्ट और वेस्ट, एसबीएसनगर

कपूरथरला, गुरदासपुर-1 और 2, पठानकोट, होशियारपुर-1 और 2 रहेंगे।

फिरोजपुर जोन

फिरोजपुर जोन में फिरोजपुर, फाजिल्का, बठिंडा-1 और 2, मानसा

संगरूर-1 और 2, बरनाला, फरीदकोट, मुक्तसर और माेगा रहेंगे।

नौ एइटीसी रखेंगे सभी जनपदों पर नजर

कैप्टन सरकार ने तीनों जोनों के लिए कुल नौ एइटीसी की भी नियुक्ति कर दी है। जोनों के लिए एक एडिशनल कमिश्नर, दो ज्वाइंट कमिश्नर और तीन डिप्टी कमिश्नर तैनात रहेंगे। ताकि राजस्व का नुकसान ना हो।

239 इंस्पेक्टर रहेंगे तैनात

तीनों जोनों में एक्साइज एंड टैक्सेशन विभाग के 239 इंस्पेक्टर की ड्यूटी रहेगी। इनमें 155 इंस्पेक्टर तैनात रहेंगे। ये सभी इंस्पेक्टर बॉटलिंग प्लांट्स और डिस्टलरीज की चेकिंग करेंगे। इसके साथ ही 34 एक्साइज एंड टैक्सेशन ऑफिसर (ईटीओ) भी तैनात किए हैं। इंस्पेक्टर इन्ही अधिकारियों को ही रिपोर्ट करेंगे। ये क्षेत्र की निगरानी कर तस्करी और टैक्स चोरी करने वालों पर नजर बनाए रखेंगे।

सरकार ने तीनों जोनों के लिए 54 स्टेशनों और 113 लिपिक नियुक्त किए हैं। ताकि प्रतिदिन की कलेक्शन का रिकाॅर्ड बन सके। रिकॉर्ड पहले भी बनता था अब स्पेशल नियुक्ति की गई ताकि टैक्स में गड़बड़ न हो। शराब तस्करी करने वालों, ठेकों की अचानक चेकिंग और इंटर स्टेट शराब माफिया पर नजर रखने को दो एइटीसी, छह ईटीओ व 12 इंस्पेक्टरों की एक टीमों गठित की गई है। जीएसटी और वेट पर भी कड़ी नजर है। टैक्सेशन कमिश्नर नीलकंठ पूरी जीएसटी व वेट को देखेंगे। जबकि एक्साइज कमिश्नर की जिम्मेदारी रजत अग्रवाल को सौंपी गई है।

Next Story