Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पंजाब पुलिस ने लुधियाना बम ब्लास्ट मामले का पर्दाफाश किया, मुख्य आरोपी गिरफ्तार- हुआ चौंकाने वाला खुलासा

पंजाब पुलिस के महानिदेशक वीके भावरा (VK Bhawra) ने कहा, राज्य पुलिस ने लुधियाना कोर्ट ब्लास्ट केस का पर्दाफाश कर मुख्य आरोपी को बॉर्डर रेंज की एसटीएफ टीम (STF team) ने गिरफ्तार किया है।

पंजाब पुलिस ने लुधियाना बम ब्लास्ट मामले का पर्दाफाश किया, मुख्य आरोपी गिरफ्तार- हुआ चौंकाने वाला खुलासा
X

पंजाब पुलिस (Punjab Police) और एनआईए की स्पेशल टास्क फोर्स ने लुधियाना कोर्ट बम विस्फोट मामले (Ludhiana court bomb blast case) का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने शनिवार को मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है, जिसकी पहचान गुप्त रखी गई है। पंजाब पुलिस के महानिदेशक वीके भावरा (VK Bhawra) ने कहा, राज्य पुलिस ने लुधियाना कोर्ट ब्लास्ट केस का पर्दाफाश कर मुख्य आरोपी को बॉर्डर रेंज की एसटीएफ टीम (STF team) ने गिरफ्तार किया है।

विस्फोट में इस्तेमाल आईईडी (IED) की तस्करी आईएसआई (ISI) द्वारा समर्थित ड्रोन के माध्यम से की गई थी। डीजीपी ने कहा कि ऑपरेशन केंद्रीय एजेंसी, राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के समन्वय (coordination) में किया गया। इससे पहले 20 मई को एसटीएफ ने लुधियाना कोर्ट ब्लास्ट मामले में एक किशोर समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया था।

बता दें कि जिला कोर्ट में बीते साल 23 दिसंबर हुए विस्फोट मामले में पूर्व पुलिस हेड कांस्टेबल गगनदीप सिंह की टॉयलेट में बम लगाते वक्त मौत हो गई थी। जबकि धमाके में 6 अन्य लोग घायल हो गए थे। पुलिस महानिरीक्षक मोहनीश चावला ने बताया, गिरफ्तार लोगों की पहचान धनो खुर्द गांव के सविंदर सिंह उर्फ भोला, चक अल्लाह बख्श गांव के दिलबाग सिंह उर्फ बग्गो, धनो खुर्द के हरप्रीत सिंह और पंजू कलाल गांव के सुरमुख सिंह के रूप में हुई है।

पुलिस ने बताया कि मुताबिक हमले से ठीक 48 घंटे पहले दिलबाग सिंह ने आईईडी अपने पास रखा था। उसके बाद सुरमुख सिंह को आईआईडी दिया गया था। जिसने बाद में इसकी जिम्मेदारी गगनदीप सिंह को सौंप दी। लेकिन हमले के दौरान आईईडी धमाके में गगनदीप की मौत हो गई। गगनदीप को लेकर बताया गया है कि वो पंजाब पुलिस का ही एक बर्खास्त अधिकारी था।

और पढ़ें
Next Story