Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नए कृषि विधेयकों के मामले ने पकड़ा तूल, प्रदर्शन के दौरान किसान ने की खुदकुशी

पंजाब के मुक्तसर जिले में कृषि संबंधी विधेयकों के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान 70 साल के एक किसान की किसी जहरीले पदार्थ खाने के बाद मौत हो गई। पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी।

नए कृषि विधेयकों के मामले ने पकड़ा तूल, प्रदर्शन के दौरान किसान ने की खुदकुशी
X
किसान आत्महत्या

चंडीगढ़। भाजपा सरकार द्वारा संसद में नए कृषि विधेयकों के पारित होने का बाद इन विधेयकों के खिलाफ प्रदर्शनों का दौर ने तूल पकड़ लिया है। नौबत इतनी बढ़ गई है कि किसान सड़कों पर उतर कर इन विधेयकों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं पंजाब के मुक्तसर जिले में कृषि संबंधी विधेयकों के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान 70 साल के एक किसान की किसी जहरीले पदार्थ खाने के बाद मौत हो गई।

पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी। मनसा जिले के अक्कनवाली गांव निवासी प्रीतम सिंह ने शुक्रवार सुबह कोई जहरीला पदार्थ खा लिया। बाद में एक अस्पताल में उनकी मृत्यु हो गयी। सिंह भारतीय किसान यूनियन (एकता उग्रहण) द्वारा 15 सितंबर से बादल गांव में आयोजित प्रदर्शन में भाग ले रहे थे। यह पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल का पैतृक गांव है। पुलिस ने कहा कि अभी पता नहीं चला है कि किसान के यह कदम क्यों उठाया।

किसान संगठन का कहना है कि प्रीतम सिंह पर कर्ज था। भारतीय किसान यूनियन (एकता उग्रहण) के महासचिव सुखदेव सिंह ने मांग की थी कि मृतक के परिवार को प्रशासन की ओर से मुआवजा दिया जाना चाहिए।

इस बीच, मुक्तसर जिला प्रशासन ने मृतक किसान के परिजन को तीन लाख रुपये का मुआवजा दिया। मुक्तसर के उपायुक्त एमके अरविंद कुमार ने कहा कि हमनें उन्हें तीन लाख रुपये का चेक दिया है। पुलिस ने कहा कि अभी पता नहीं चला है कि किसान के यह कदम क्यों उठाया। लेकिन साफ जाहिर है कि उन्होंने कृषि विधेयकों के विरोध में यह कदम उठाया है।

Next Story