Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पंजाब में किसानों ने शुरू किया तीन दिन का रेल रोको आंदोलन, रेलवे ट्रैक पर ही धरने पर बैठे

संसद में पारित हुए तीन कूषि विधेयकों के खिलाफ किसानों ने हल्ला बोल दिया है। एक तरफ जहां जगह जगह प्रदर्शन किए जा रहे हैं वहीं अब किसानों ने तीन दिनों के राज्य में रेल रोको आंदोलन शुरू कर दिया है। पंजाब में तीन दिनों के लिए रेल नहीं चलेंगी।

पंजाब में किसानों ने शुरू किया तीन दिन का रेल रोको आंदोलन, रेलवे ट्रैक पर ही धरने पर बैठे
X
किसानों का रेल रोको आंदोलन

चंडीगढ़। संसद में पारित हुए तीन कूषि विधेयकों के खिलाफ किसानों ने हल्ला बोल दिया है। एक तरफ जहां जगह जगह प्रदर्शन किए जा रहे हैं वहीं अब किसानों ने तीन दिनों के राज्य में रेल रोको आंदोलन शुरू कर दिया है। पंजाब में तीन दिनों के लिए रेल नहीं चलेंगी। राज्य में चलनी वाली सभी 14 रेलगाड़ियों को तीन दिन के लिए रद कर दिया गया है।

रद की गई अधिकतर ट्रेनों का आवागमन अम्बाला तक ही होगा। इन आंदोलनों को देखते हुए कुछ ट्रेनों के ठहराव और कई ट्रेनों के रूट बदल दिए गए हैं। राज्य के अमृतसर, फिरोजपुर जिलों में किसान रेलवे ट्रैक पर ही धरने पर बैठ गए हैं जिसके चलते दिल्ली की ओर आने-जाने वाली गाड़ियों पर असर पड़ा है। किसानों ने 25 सितंबर को बंद का एलान किया है। जिसके चलते फिरोजपुर रेल मंडल ने 14 ट्रेनें रद्द कर दी हैं। इतना ही नहीं किसानों ने एक अक्टूबर से अनिश्चितकाल के लिए किसानों ने बंद का आह्वान किया है।

पंजाब बंद के लिए 31 किसान संगठन आए एक साथ

बता दें कृषि विधेयकों के विरोध में 25 सितंबर को होने वाले पंजाब बंद के लिए 31 किसान संगठन एक साथ हैं। किसान मजदूर संघर्ष समिति ने पहले ही 24 से 26 सितंबर के बीच रेल रोको आंदोलन का आह्वान किया हुआ है। क्रांतिकारी किसान यूनियन के अध्यक्ष दर्शन पाल ने बताया कि पंजाब बंद को समर्थन देने वालों में मुख्य तौर पर भारती किसान यूनियन (क्रांतिकारी), कीर्ति किसान यूनियन, भारती किसान यूनियन (एकता उगराहां), भाकियू (दोआबा), भाकियू (लाखोवाल) और भाकियू (कादियां) आदि संगठन शामिल हैं।

Next Story