Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जालंधर में ग्राहकों को चूना लगाकर करोड़ों की ठगी कर कंपनी फरार

जालंधर के पॉश इलाके में ठगी की एक बड़ी वारदात अंजाम दी गई है। यहां एक कंपनी करोड़ों का चुना लगाकर रफु चक्कर हो गई है। बताया जा रहा है इस कंपनी के जगह जगह कार्यालय थे, मगर अब सब पर ताला डला हुआ है।

कनाडा का वीजा लगवाने का झांसा देकर 15 लाख ठगे
X
15 लाख ठगे( प्रतीकात्मक फोटो)

जालंधर। जालंधर के पॉश इलाके में ठगी की एक बड़ी वारदात अंजाम दी गई है। यहां एक कंपनी करोड़ों का चुना लगाकर रफु चक्कर हो गई है। बताया जा रहा है इस कंपनी के जगह जगह कार्यालय थे, मगर अब सब पर ताला डला हुआ है।

कंपनी सोने की किटी डालने का झासा देती थी। कंपनी अपने ग्राहकों को अमेरिका तक के टूर पर भेजती थी ताकि ग्राहकों का उन पर विश्वास बना रहे। कंपनी के कार्यालय पर मंगलवार को ताला लटकता मिला और ग्राहकों का जमावड़ा देर शाम तक बढ़ गया। बाद में पता चला कि कंपनी ने पंजाब में कई स्थानों पर कार्यालय खोल रखे थे, सब पर ताला लग गया है।

कंपनी ग्राहकों से कहती थी कि अगर उनके पास कोई किटी डालता है तो वह 11 माह तक किश्त क्लाइंट से लेंगे और 12वीं किश्त वह जेब से डालेंगे। ग्राहक को उतनी कीमत का सोना मिलेगा। इसके बाद ग्राहकों की लंबी फेहरिस्त तैयार हो गई और कार्यालय में निवेश करने वालों का तांता लगने लगा।

जानकारी के अनुसार, गुरमिंदर सिंह, गगनदीप व रणजीत सिंह ने विज पावर के नाम से कंपनी खोली थी। कुछ ही समय में लोगों पर इस कंपनी का इतना विश्वास बन गया था कि कई लोग 5-5 लाख रुपये की किश्त महीने में देने लगे थे। 11 माह बाद उनको 60 लाख का सोना या कैश मिल जाता था। एक स्कीम भी कंपनी चला रही थी। इसमें अगर कोई ग्राहक आगे तीन क्लाइंट लाकर देता है तो वह उसको विदेश टूर करवाएंगे। काफी लोगों को अमेरिका व कनाडा तक की सैर कंपनी की तरफ से करवाई गई।

लॉकडाउन के बाद कंपनी में निवेश कम हो गया था। इससे पहले कि लोगों को असलियत पता चलती, कंपनी संचालकों ने अपना बोरिया बिस्तर समेटा और खिसक गए। पुलिस का अनुमान है कि कंपनी के संचालक 50 करोड़ से अधिक की राशि समेटकर ले गए हैं। एसीपी मॉडल टाउन हरविंदर गिल का कहना है कि पुलिस मामले की जांच कर रही है। मंगलवार रात को कंपनी के दो कर्मचारियों को लोगों ने खुद ही मॉडल टाऊन से दबोच लिया और पुलिस को सौंप दिया।

Next Story