Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

परीक्षाएं रद्द करवाने के लिए सीएम अमरिंदर सिंह ने पीएम मोदी को लिखी चिट्ठी

पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कॉलेजों और विश्‍वविद्यालयों की परीक्षाएं रद करने को लेकर अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है। प्रधानमंत्री मोदी को लिखे पत्र में कैप्टन अमरिंदर सिंह‍ ने कॉलेजों और विश्‍वद्यायलयों की परीक्षाएं रद करने की मांग की है।

परीक्षाएं रद करवाने के लिए सीएम अमरिंदर सिंह ने पीएम मोदी को लिखी चिट्ठी
X
सीएम अमरिंदर सिंह

चंडीगढ़। पंजाब में लगातार बढ़ रहे कोरोना के आतंक ने प्रदेश सरकार की चिंता बढ़ा दी है। प्रदेश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा तेजी से बढ़ता जा रहा है। इसी को देखते हुए पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कॉलेजों और विश्‍वविद्यालयों की परीक्षाएं रद करने को लेकर अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है। प्रधानमंत्री मोदी को लिखे पत्र में कैप्टन अमरिंदर सिंह‍ ने कॉलेजों और विश्‍वद्यायलयों की परीक्षाएं रद करने की मांग की है। यूजीसी की ओर से हर हाल में परीक्षाएं लेने के फैसले के बाद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर कहा है कि परीक्षाएं लेना संभव नहीं है।

कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध किया है कि वह राज्य सरकार के तीन जुलाई के फैसले को मानने की अनुमति दें। पंजाब सरकार द्वारा तीन जुलाई को कोरोना वायरस के कारण पैदा हालात को देखते हुए कॉलेजों व विश्‍वविद्यालयों की परीक्षाओं को रद कर दिया गया है।

कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने पीएम मोदी से आग्रह किया है कि वह मानव संसाधन विकास मंत्रालय व यूजीसी को हर हाल में कॉलेजों और विश्‍वविद्यालयों में परीक्षाएं हर हाल में आयोजित करने के अपने फैसले पर पुनर्विचार के लिए कहें। कैप्टन ने पीएम से कहा कि वह यूजीसी से अपने 29 अप्रैल को जारी किए निर्देशों को ही लागू करने को कहें, जिसमें कहा गया था कि राज्य सरकारें अपने हिसाब से परीक्षाओं की योजना बनाएं। उन्‍होंने कहा है कि प्रदेश सरकार ने विद्यार्थियों को पिछले वर्षों की परफॉर्मेंस के आधार पर ही आगे प्रमोट करने का निर्णय लिया था। विद्यार्थी ग्रेड सुधारने के लिए दोबारा परीक्षा दे सकते हैं। उच्च शिक्षा मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा ने भी मानव संसाधन विकास मंत्री को पत्र लिखकर फैसले पर पुनर्विचार की अपील की थी।

Next Story