Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चंडीगढ़ : जिला अदालतों में अब वकीलों के मुंशियों की भी मिल सकेगी एंट्री, कोरोना की वजह से लगी थी रोक

चंडीगढ़ में लॉकडाउन में मिली ढील का असर अब धीरे-धीरे दिखने लगा है। शहर में हालात सामान्य होते जा रहे हैं। हालांकि कोरोना का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है। बावजूद इसके सरकार कुछ हद तक राज्य में लगी रोक को हटाने में लगी हुई है। वहीं सामेवार को डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज परमजी सिंह ने जिला अदालत में अब वकीलों के साथ उनके मुंशियों की अदालत में आने की अनुमति दे दी।

चंडीगढ़ : जिला अदालतों में अब वकीलों के मुंशियों की भी मिल सकेगी एंट्री, कोरोना की वजह से लगी थी रोक
X
जिला अदालत

चंडीगढ़। चंडीगढ़ में लॉकडाउन में मिली ढील का असर अब धीरे-धीरे दिखने लगा है। शहर में हालात सामान्य होते जा रहे हैं। हालांकि कोरोना का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है। बावजूद इसके सरकार कुछ हद तक राज्य में लगी रोक को हटाने में लगी हुई है। वहीं सामेवार को डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज परमजी सिंह ने जिला अदालत में अब वकीलों के साथ उनके मुंशियों की अदालत में आने की अनुमति दे दी। मुंशी पिछले चार महीने से कोरोना के बढ़ते प्रकोप की वजह से लगाए गए लॉकडाउन के वजह से कोर्ट में नहीं आ रहे थे। कोरोना महामारी की वजह से अदालत ने सिर्फ वकीलों को ही उनके चैंबर और अदालत में आने की मंजूरी दी हुई थी। मुंशियों को सख्त हिदायत थी कि वह जिला अदालत कांप्लेक्स में नहीं आएंगे।

रविवार को पांच लाख रुपये रिश्वत मामले में आरोपित मनीमाजरा थाना की पूर्व एसएचओ जसविंदर कौर को जिला अदालत में एंट्री देने के खिलाफ वकीलों ने प्रदर्शन किया था। इसके बाद सोमवार को वकीलों का एक ग्रुप जिला बार एसोसिएशन के प्रधान एनके नंदा की अगुआई में सेशन जज से मिला और मुंशियों को भी अदालत आने की अनुमति देने की अपील की। नंदा ने बताया कि उनकी मांग को डिस्ट्रिक्ट एवं सेशन जज ने मान लिया है।

हालांकि अदालत में आने के लिए मुंशियों को कुछ हिदायतों का पालन करना होगा। जो भी मुंशी जिला अदालत कांप्लेक्स में आएगा, उसे मेन गेट पर एंट्री के समय ही अपना जिला अदालत का बना हुआ पहचान पत्र दिखाना होगा। इसके बाद ही उसे अदालत परिसर के अंदर आने दिया जाएगा। इसके अलावा शारीरिक दूरी और फेस मास्क पहनने जैसे नियमों का हर समय पालन करना होगा।

Next Story