Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कल हो सकता है मंत्रिमंडल का विस्तार, 24 नामों को लेकर सहमति के बन रहे आसार

आनंदी बेन पटेल को मिला मध्यप्रदेश के राज्यपाल का प्रभार, सिंधिया भी हो सकते हैं शपथ ग्रहण समारोह में शामिल

कल हो सकता है मंत्रिमंडल का विस्तार, 24 नामों को लेकर सहमति के बन रहे आसार

भोपाल. मध्यप्रदेश की तीन माह से अधिक पुरानी शिवराज सिंह चौहान सरकार के मंत्रिमंडल का बहुप्रतीक्षित विस्तार कल यानि मंगलवार को होने की पूरी संभावना है...मुख्यमंत्री चौहान और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा रविवार को भोपाल से दिल्ली रवाना हुए थे और उनकी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से चर्चा हुई है. बैठकों का दौर आज भी चल रहा है और सीएम चौहान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात करेंगे. देर रात तक सीएम शिवराज के लौटने के बाद स्थिति स्पष्ट होगी. फिलहाल कयास लगाये जा रहे है कि 24 नये मंत्रियों को शपथ दिलाई जा सकती है...सिंधिया के भी शामिल होने के कयास लगाये जा रहे है...मंगलवार को यदि शपथ ग्रहण समारोह नहीं हुआ तो फिर लंबे समय के लिये टल सकता है.

मध्यप्रदेश की प्रभारी राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी मंगलवार सुबह लखनऊ से भोपाल पहुंचेंगी और पहले वह स्वयं शपथ ग्रहण करेंगी. उन्हें रविवार को ही मध्यप्रदेश के राज्यपाल पद का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है. राज्यपाल लालजी टंडन के अस्वस्थ होने के चलते पटेल को यह प्रभार दिया गया है. इसके बाद कयास लगाये जा रहे है कि प्रदेश में मंत्रिमंडल का विस्तार हो. फिलहाल प्रदेश के मुख्यमंत्री और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिल्ली में है. जो पार्टी के शीर्षि नेताओं से विचार-मंथन कर रहे हैं. देररात लौटने के बाद प्रदेश में स्थिति स्पष्ट होने के आसार है. फिलहाल पार्टी के सूत्रों से जो जानकारी मिल रही है. उसमें मंत्रीमंडल में 24 नये मंत्रियों को शामिल किया जा सकता है. इसमें सिंधिया समर्थकों की संख्या 10 होगी और 15 बीजेपी के कोटे से मंत्री बनाये जाएंगे. फिलहाल पार्टी के सूत्रों से यह भी जानकारी मिल रही है कि पूर्व में मंत्री रहे वरिष्ठ नेताओं को इस बार मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया जायेगा. पार्टी गुपचुप तरीके से मंत्रिमंडल के नामों पर विचार कर रही है. पार्टी को आशंका है कि पार्टी के नेता बगावत पर न उतर आये. इसलिये फिलहाल सभी नेता फिलहाल चुप्पी साधे हुए हैं. हालांकि मुख्यमंत्री ने इस बात के संकेत पहले ही दे दिये थे कि जल्द ही प्रदेश में मंत्रीमंडल का विस्तार होगा.

सिंधिया खेमें से नाम लगभग तय हो गये है. जिनमें प्रद्धुम्न सिंह तोमर, प्रभुराम चौधरी, इमरती देवी, महेद्र सिंह सिसौदिया, राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, एदल सिंह कंसाना और रणरीव सिंह जाटव के नाम है. इसके अलावा बिसाहूलाल सिंह और हरदीप सिंह डंक को भी शामिल किया जा सकता है. वही बीजेपी के कोटे की बात करें तो गोपाल भार्गव,भूपेद्र सिंह, विजय शाह, गौरीशंकर बिसेन, यशोधरा राजे सिंधिया, अजय विश्नोई, अरविंद भदौरिया, प्रेम सिंह बड़वानी के नाम लगभग तय है. जबकि रीवा से राजेद्र शुक्ल या केदार शुक्ला,भोपाल से विश्वास सांरग या फिर विष्णु खत्री के नाम पर पेंच फंसा है. इसी प्रकार रायसेन से रामपाल सिंह और सुरेद्र पटवा में से एक,उज्जैन में पारस जैन और मोहन यादव में से एक, मंदसौर से ओमप्रकाश सखलेचा, यशपाल सिंह सिसोदिया, राजेद्र पांडेय में से एक और लगभग यही स्थिति संजय पाठक और जालम सिंह पटेल में से कोई एक को ही मंत्री पद मिलेगा.

विधानसभा में सदस्यों की संख्या के मान से राज्य में अधिकतम 35 मंत्री हो सकते हैं, जिनमें मुख्यमंत्री भी शामिल हैं. इस तरह मुख्यमंत्री चौहान अधिकतम 29 और विधायकों को मंत्री बना सकते हैं, हालाकि रणनीतिक तौर पर हमेशा मंत्रिमंडल में कुछ स्थान रिक्त रखे जाते हैं. मंत्रिमंडल विस्तार में इसी रणनीति के तहत सिर्फ 24 नामों को शामिल किया जायेगा....पांच मंत्री पहले से ही मंत्रिमंडल में है. ऐसे में कुछ स्थान रिक्त रखे जाएंगे.

Next Story
Top