Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कैंसर पेशेंट्स की जिंदगी को बेहतर बनाने की खास मुहिम, हॉस्पिटल में मनाया वर्ल्ड रोज डे

डॉक्टर आरती सिन्हा कहती हैं कि कैंसर पेशेंट्स को बीमारी से उबरने के बाद भी हालिस्टिक निदान की जरूरत होती है, जिससे उनके जीवन में उत्साह और उमंग बढ़ सके। पढ़िए पूरी खबर-

कैंसर पेशेंट्स की जिंदगी को बेहतर बनाने की खास मुहिम, हॉस्पिटल में मनाया वर्ल्ड रोज डे
X

भोपाल। डॉक्टर आरती सिन्हा के विशेष अभियान जागृति की श्रृंखला में लेकसिटी हॉस्पिटल में कैंसर से जूझ रहे कैंसर चैंपियंस के साथ वर्ल्ड रोज डे मनाया गया। उन्होंने कहा कि आज आवश्यकता है समाज को जागृत करने की, एक बेहतर समाज बनाने की, जिसमें हम सबके दुखों को बांट सकें, बीमारियों से मुक्ति पा सकें एवम मानसिक और शारीरिक रूप से सुदृढ़ हो सकें। इसके अलावा विशेष रूप से उन लोगों तक पहुंचे, जिनके जीवन में उत्साह और उमंग बढ़ने की जरूरत है। डॉक्टर आरती सिन्हा लगातार इस क्षेत्र में काम कर रही हैं।

शारीरिक ही नहीं, बल्कि मानसिक रूप से भी कमजोर पड़ने लगता है

आरती कहती हैं कि कैंसर एक ऐसी ही बीमारी है, जो अपने साथ अनेक अनचाही व्यथाएं लेकर आती है। व्यक्ति न केवल शारीरिक बल्कि मानसिक रूप से भी कमजोर पड़ने लगता है। इस समय हमें आवश्यकता है एक ऐसी कोशिश की जो इन कैंसर चैंपियंस को जीवन की रेस में आगे बढ़ाए। उसके लिए इनके उत्साह के साथ-साथ कुछ हॉलिस्टिक निदान भी आवश्यक है। इस श्रृंखला में डॉक्टर आरती सिन्हा ने कैंसर के कारण उत्पन्न जटिल समस्याओं को दूर करने के लिए सकारात्मक सोच, आशावादी दृष्टिकोण तथा मेडिटेशन के सरल उपाय साउंड हीलिंग के माध्यम से सिखाएं, जो हर कैंसर चैंपियन के जीवन में आमूल बदलाव लेकर आ सकेगा।

सामूहिक मंत्र मेडिटेशन भी किया

सबने मिलकर अनाहत चक्र पर मेडिटेशन के साथ सामूहिक मंत्र मेडिटेशन भी किया। सब चैंपियंस को गुलाब भेंट किए गए, जो प्रतिबिंब हैं कि जिस तरह कांटो के बीच भी गुलाब खिलता है। उसी तरह जीवन रूपी बगिया में कैंसर के कांटे को सावधानी से अलग कर पूर्ण उल्लास के साथ जीवन को जिएं। देखिए वीडियो-


Next Story