Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बारिश बनी आफत: जनजीवन अस्त-व्यस्त, नदियां उफान पर, पूरे प्रदेश के साथ भोपाल, इंदौर में फिर भारी बारिश की चेतावनी

मानसून ने समूचे मध्यप्रदेश में रफ्तार पकड़ ली है। चंबल-ग्वालियर, बुंदेलखंड और विंध्य अंचल में लगातार बारिश से क्षेत्र की नदियां उफान पर हैं। चंबल नदी का जलस्तर 4 मीटर बढ़ गया है। टीकमगढ़ जिले में बारिश से बांध का पानी छोड़ना पड़ा, जिससे बेतवा नदी में बाढ़ आ गई। सतना में लगातार बारिश से धारकुंडी स्थित श्रीपरमहंस आश्रम में सैलाब आ गया। इस आश्रम में अनेक साधु-संत रहते हैं। आज भोपाल, इंदौर में भी भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। बारिश के कारण जनजीवन अस्त व्यस्त है।

बारिश बनी आफत: जनजीवन अस्त-व्यस्त, नदियां उफान पर, पूरे प्रदेश के साथ भोपाल, इंदौर में फिर भारी बारिश की चेतावनी
X

बारिश से जलमग्न हुईं सड़कें

भोपाल। मानसून ने समूचे मध्यप्रदेश में रफ्तार पकड़ ली है। चंबल-ग्वालियर, बुंदेलखंड और विंध्य अंचल में लगातार बारिश से क्षेत्र की नदियां उफान पर हैं। चंबल नदी का जलस्तर 4 मीटर बढ़ गया है। टीकमगढ़ जिले में बारिश से बांध का पानी छोड़ना पड़ा, जिससे बेतवा नदी में बाढ़ आ गई। सतना में लगातार बारिश से धारकुंडी स्थित श्रीपरमहंस आश्रम में सैलाब आ गया। इस आश्रम में अनेक साधु-संत रहते हैं। आज भोपाल, इंदौर में भी भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। बारिश के कारण जनजीवन अस्त व्यस्त है। प्रदेश में नर्मदा, ताप्ती, बेतवा, शिप्रा समेत कई नदियां उफान पर है।

भारी बारिश का अलर्ट

मौसम विभाग ने ग्वालियर-चंबल, बुंदेलखंड और विंध्य के साथ इंदौर-भोपाल में भी तेज बारिश होने की चेतावनी दी है। अगले कुछ दिन तक बारिश का दौर जारी रहेगा। इसके अलावा नर्मदापुरम संभाग के अलावा अनूपपुर, डिंडौरी, मंडला, बालाघाट, सागर, छतरपुर, विदिशा, बुरहानपुर और खंडवा जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। दो-तीन दिन से भोपाल, इंदौर में तेज बारिश थमी है। रिमझिम बारिश हो रही है, लेकिन अब यहां भी तेज बारिश शुरू हो गई है। 22 जुलाई से पूरे प्रदेश में फिर से तेज बारिश होगी।



और पढ़ें
Next Story