Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

'न्याय द जस्टिस' सुशांत सुसाइड केस की वास्तविकता उजागर करने का प्रयास

भोपाल में अपने भाई की शादी अटेंड करने आए एक्टर जुबेर खान से हरिभूमि की खास चर्चा

न्याय द जस्टिस सुशांत सुसाइड केस की वास्तविकता उजागर करने का प्रयास
X

भोपाल। सुशांत केस पर बनी फिल्म 'न्याय द जस्टिस' जल्द ही रिलीज होने वाली है इसमें मैंने एक अहम रोल निभा रहा हूं, इस फिल्म के जरिए सुशांत सिंह सुसाइड केस की वास्तविकता उजागर करने का प्रयास है। इस फिल्म में मेरा रोल आउट साइडर का है क्योंकि इसमें सुशांत की मैनेजर डायरेक्ट कर रही हैं, और उन्होंने इसमें काफी केस स्टडी की है। यह कहना है कि एक्टर मॉडल जुबैर खान का। जुबैर राजधानी भोपाल में अपने भाई की शादी अटैंड करने आए हैं, हरिभूमि को दिए अपने इंटरव्यू में जुबैर ने अपने कॅरियर से जुड़े सवालों के जवाब दिए।

नेपोटिज्म तो हर जगह है...

उन्होंने कहा कि इंडस्ट्री में लोग नेपोटिज्म की बात करते हैं लेकिन मैं नेपोटिज्म तो हर जगह है क्योंकि कोई भी व्यक्ति जब अपना खुद का कोई काम शुरू करता है तो पहले अपने बच्चों को ही प्रमोट करता है और इसी वजह से स्टार किड्स ज्यादा रिस्पांसिबल हो जाते हैं लेकिन जिसने बड़ा एंपायर जिसने खड़ा किया है वह तो एक साधारण आदमी है, उसकी मेहनत के बल पर वो खड़ा हुआ है। यह कहना है एक्टर माडल जुबैर खान का।

22 साल भोपाल की आबो हवा में बिताए

जुबेर खान का कहना है कि मेरा जन्म भोपाल में हुआ, स्कूल कॉलेज भी यहीं हुआ और 22 साल अपने जीवन के मैंने इस खूबसूरत शहर में बिताएं हैं। उन्होंने कहा कि मेरी मां तो प्रोफेसर हैं और फिर मुझे एक्टिंग का चस्का बचपन से ही था। फिर मैंने भोपाल से बाहर जाने का सोचा क्योंकि मैं बचपन से ही डांस करता आया हूं। मैंने हबीब तनवीर थिएटर से एक्टिंग सीखी है।

मप्र धीरे धीरे मिनी फिल्म सिटी बनता जा रहा है

इसके साथ ही आश्रम वेब सीरिज पर हुए बवाल पर उनका कहना है कि यह तो लोगों की सोच हैं और यह कार्य तो कहीं भी हो सकता है। इसमें मप्र को दोष नहीं दे सकते। मप्र धीरे धीरे मिनी फिल्म सिटी बनता जा रहा है क्योंकि यहां टैलेंट बहुत अच्छा है प्रोडक्शन हाउस की काफी अच्छा है, और अब डायरेक्टर व प्रोडयूसर को मप्र इतना पसंद आ रहा है के यहां फिल्में बनती रहेंगी। मेरी आने वाली फिल्म की शूटिंग भोपाल में ही होगी।

मैं एक ऐसा रोल करना चाहता हूं जो यादगार बन जाए

शाहरूख अक्षय सर से हमेशा इंस्पायर रहने वाले जुबैर का कहना है कि मेरा ड्रीम रोल के बारे में ऐसा कुछ डिसाइड नहीं किया लेकिन मैं एक ऐसा रोल करना चाहता हूं जो यादगार बन जाए, जिस पर किताबें लिखी जाएं। और मुझे जो भी रोल मिले वो अच्छा ही लगेगा।

Next Story