Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब पोल टू पोल कटेगा कनेक्शन, समाधान योजना में बकायादारों ने नहीं दिखाई दिलचस्पी

अब पोल टू पोल कटेगा कनेक्शन, समाधान योजना में बकायादारों ने नहीं दिखाई दिलचस्पी
X

भोपाल। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के बकायेदारों ने समाधान योजना में दिलचस्पी नहीं दिखाई। 28 फरवरी अंतिम तारीख निकलने के बाद भी बकाया जमा नहीं है। इनसे वसूली के लिए अब कंपनी ने 40 टीमें तैनात कर दी हैं। तीन हजार रुपए से ऊपर जिस घर के ऊपर बकाया है, उसका कनेक्शन काट दिया जाएगा। पोल टू पोल कनेक्शन काटना शुरू किया है। बुधवार करीब 200 से ज्यादा कनेक्शन काटे गए। इन्हें जुड़वाने के लिए दवाब भी डाले, लेकिन दवाब काम नहीं आया है। बिजली कंपनी ने उन बकायेदारों से बकाया वसूल करने के लिए समाधान योजना लागू की थी, जिनका 31 अगस्त 2020 का बिल स्थगित किया गया था। बिजली कंपनी ने अभियान चलाकर इनके रजिस्ट्रेशन किए थे। 28 फरवरी तक बिल जमा करने की आखिरी तरीख थी, लेकिन बकायेदारों ने बिल नहीं भरा। मंगलवार को शिवरात्रि की छुट्टी थी, जिसके चलते अभियान नहीं चल सका। बुधवार से कंपनी ने अभियान शुरू कर दिया है।

- कनेक्शन नहीं जोड़े, इसलिए बिजली पोलों की निगरानी कर रहे गार्ड

रजिस्ट्रेशन के बाद बिल भरने के लिए एक महीने का समय था। इसलिए समाधान के तहत रजिस्टर्ड उपभोक्ताओं को छूट दी गई। लेकिन फिर भी उन्होंने बकाया बिल जाम नहीं किया। कंपनी पर चिन्ह्ति कर कनेक्शन काटने का आरोप न लगे, उसके लिए पोल टू पोल व्यवस्था की है। तीन हजार रुपए तक बकाया है, तो कनेक्शन काट दिया जाएगा। पोल टू पोल निगरानी भी बढ़ा दी है। गार्ड पोलों की निगरानी कर रहे हैं।

- इनका कहना

समाधान योजना के तहत रजिस्ट्रेशन कराने के बाद भी बकाया बिल जमा नहीं करने वाले के अब पोल टू पोल कनेक्शन काटे जा रहे हैं। इसके लिए 40 टीमें तैनात की हैं। किसी भी बकायेदार पर रियायत नहीं है। एक पोल पर जितने लोगों पर बकाया है, उनके सभी के कनेक्शन काटे जाएंगे।

गणेश शंकर मिश्रा, एमडी, मप्र क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी

और पढ़ें
Next Story