Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

MP : पशुपालन विभाग में टेंडर फर्जीवाड़ा कर 9.70 करोड़ की ठगी, मंत्री के निजी सचिव समेत 7 गिरफ्तार

में पशुधन राज्य मंत्री के प्रधान निजी सचिव रजनीश दीक्षित समेत 7 गिरफ्तार। पढ़िए पूरी खबर-

MP : पशुपालन विभाग में टेंडर फर्जीवाड़ा कर 9.70 करोड़ की ठगी, मंत्री के निजी सचिव समेत 7 गिरफ्तार
X

इंदौर। पशुपालन विभाग में धोखाधड़ी का बड़ा रैकेट पकड़ा गया है। जानकारी के मुताबिक इंदौर के एक व्यापारी से फर्जी टेंडर के नाम पर 9 करोड़ 72 लाख रुपए वसूले गए थे। इस मामले में यूपी एसटीएफ ने मंत्री के निजी सचिव, कई सरकारी कर्मचारी समेत सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

एसटीएफ के प्रवक्ता ने बताया कि पशुपालन विभाग में फर्जी टेंडर के नाम पर इंदौर के एक व्यापारी से 9 करोड़ 72 लाख रुपए वसूले गए थे। इस फर्जीवाड़े में पशुधन राज्य मंत्री के प्रधान निजी सचिव रजनीश दीक्षित, सचिवालय का संविदा कर्मी और मंत्री का निजी सचिव धीरज कुमार देव, कथित पत्रकार एके राजीव और खुद को पशुपालन विभाग का उपनिदेशक बताने वाला आशीष राय शामिल है। रूपक राय, उमाशंकर तिवारी और अनिल राय नाम के आरोपी भी गिरफ्तार किए गए हैं।

उन्होंने बताया कि- '2018 से शुरू हुए इस फर्जीवाड़े का पर्दाफाश तब हुआ जब मामले की शिकायत इंदौर के व्यापारी मंजीत सिंह भाटिया ने लखनऊ पुलिस से की थी। व्यापारी का आरोप है कि अप्रैल 2018 में उन्हें पशुधन विभाग से 214 करोड़ रुपए का टेंडर देने के एवज में तीन फीसदी कमीशन का प्रस्ताव मिला था, जिसके लिए उन्होंने एक फीसदी कमीशन के तौर पर दो करोड़ रुपए का भुगतान तुरंत कर दिया। 31 अगस्त को आरोपितों ने दोबारा व्यापारी को बुलाया। पशुपालन विभाग के विधानसभा सचिवालय स्थित सरकारी कार्यालय में आशीष ने खुद को एसके मित्तल बताकर व्यापारी से मुलाकात की और फर्जी वर्क ऑर्डर की कॉपी दे दी। इसके बाद गिरोह ने कई बार में व्यापारी से करोड़ों रुपए वसूले। फ़िलहाल इस मामले में कार्यवाही जारी है।

Next Story