Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भू माफिया रमाकांत विजयवर्गीय के खिलाफ दर्ज होगी 30 से ज्यादा FIR, 500 करोड़ रुपए की ठगी मामले में था फरार

आरोपी पर 247 लोगों के साथ जमीन के नाम पर धोखाधड़ी का आरोप। पढ़िए पूरी खबर-

भू माफिया रमाकांत विजयवर्गीय के खिलाफ दर्ज होगी 30 से ज्यादा FIR, 500 करोड़ रुपए की ठगी मामले में था फरार
X

भोपाल। पुलिस ने भू माफिया के खिलाफ शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। भू माफिया रमाकांत विजयवर्गीय के खिलाफ 30 से ज्यादा एफआईआर दर्ज होंगी। जानकारी के मुताबिक रमाकांत विजयवर्गीय के खिलाफ लगभग 40 मामले पहले से दर्ज हैं। आरोपी पर 247 लोगों के साथ जमीन के नाम पर धोखाधड़ी का आरोप है।

जानकारी के मुताबिक लालघाटी में पंचवटी फेज 3 में जमीन के नाम पर लोगों से पैसे लिए थे। इसके बाद कोहेफिजा में रमाकांत विजयवर्गीय के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। रमाकांत विजयवर्गीय पर आगे चल कर 200 से ज्यादा मामले दर्ज हो सकते हैं। इस कार्रवाई को माफियाओं पर अब तक की भोपाल पुलिस की सबसे बड़ी कार्रवाई बताई जा रही है।

बता दें आरोपी रमाकांत विजयवर्गीय 5 साल से इंदौर में नाम बदल कर रह रहा था। कुछ दिन पहले ही किया भोपाल पुलिस ने भी रमाकांत विजयवर्गीय को गिरफ्तार था। करीब 500 करोड़ रुपए की ठगी मामले में फरार चल रमाकांत विजयवर्गीय को कोहेफिजा थाना पुलिस इंदौर से गिरफ्तार कर भोपाल लाई थी। आरोपी इंदौर में भेष बदलकर रह रहा था। वो लोगों को अपना नाम भी रामकुमार व्यास बताता था। रमाकांत ने फर्जी नाम से ड्राइविंग लाइसेंस भी बनवा लिया था।

पुलिस के मुताबिक आरोपी ने 200 प्लॉटों को बेचने के नाम पर लोगों से ठगी की। गिरफ्तारी से बचने के लिए उसने इंदौर में ठिकाना बना लिया था। यहां वो बाबा के रूप रामकुमार व्यास के नाम से रह रहा था। पुलिस का कहना है कि लोगों को ठगने के लिए रमाकांत ने भोपाल में डिस्ट्रिक इन्फ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड बनाई थी।

कंपनी के माध्यम से वर्ष 2005 में पंचवटी फेस-2 एवं 3 में भूखंड बेचने के नाम पर करीब 250 लोगों से फर्जी तरीके से करीब 500 करोड़ रुपए ठग लिए। आरोपी के विरुद्ध थाना कोहेफिजा में धोखाधड़ी के कुल 22 केस दर्ज हैं। पुलिस के अनुसार, रमाकांत का श्यामला हिल्स स्थित अंशल अपार्टमेंट में आलीशान फ्लैट है। भोपाल के कई थानों में उस पर मामले दर्ज हैं। आरोपी के खिलाफ न्यायालय द्वारा स्थाई वारंट जारी किए गए। पुलिस ने उस पर 20 हजार रुपए का इनाम भी घोषित कर रखा था।

Next Story
Top