Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बदमाशों ने शराब ठेकेदार को मारी गोली, शहर में शराब की दुकानें बंद

वारदात की वजह शराब सिंडिकेट के व्यापारियों का विवाद, लोगों ने गोली चलने की आवाज सुनी, तो सहम गए। वे कुछ समझ पाते, तब तक हमलावर भाग गए। ठेकेदार का नाम अर्जुन ठाकुर है। पढ़िए पूरी खबर-

बदमाशों ने शराब ठेकेदार को मारी गोली, शहर में शराब की दुकानें बंद
X

इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर में शराब ठेकेदार को कुछ गुंडों ने दिनदहाड़े गोली मार दी। वारदात की वजह शराब सिंडिकेट के व्यापारियों के विवाद को माना जा रहा है। लोगों ने गोली चलने की आवाज सुनी, तो सहम गए। वे कुछ समझ पाते, तब तक हमलावर भाग गए। ठेकेदार का नाम अर्जुन ठाकुर है, जिस पर पांच बदमाशों ने गोली चलाई है। फ़िलहाल अर्जुन ठाकुर की हालत नाजुक बताई जा रही है।

घटना सत्यसाईं चौराहा स्थित सिंडिकेट के ऑफिस के सामने सोमवार शाम करीब 4 बजे की है, जहां अर्जुन ठाकुर पिता वीरेंद्र सिंह ठाकुर को गोली मार दी गई। घायल अर्जुन को राजश्री अपोलो अस्पताल ले जाया गया है। गोली अर्जुन के पेट में लगी है। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और लोगों से पूछताछ की। बताया जाता है कि शराब दुकान की लोकेशन को लेकर विवाद चल रहा है।

गोलीकांड के बाद शराब सिंडिकेट ऑफिस पर पथराव किया गया और तोड़फोड़ कर दी गई। बताया जा रहा है कि इंदौर में शराब के सिंडीकेट ऑफिस पर किसी मामले के समझौते के लिए बुलाकर शराब ठेकेदार हेमू ठाकुर, चिंटू ठाकुर व गैंगस्टर सतीश भाऊ ने धोखे से शराब ठेकेदार अर्जुन ठाकुर को गोली मारी है। सूत्रों के मुताबिक तीन गोली चलाई गई अर्जुन ठाकुर की पीठ तथा पेट में गोली लगी है।

जानकारी के मुताबिक अर्जुन की एबी रोड स्थित रघुनाथ पेट्रोल पंप के सामने शराब दुकान है। इसे लेकर कई महीनों से शराब सिंडिकेट से जुड़े लोगों से विवाद चल रहा था। दो दिन पहले भी इसे लेकर विवाद हुआ था। यह दुकान पूर्व में अर्जुन के पिता संचालित करते थे। पिता के निधन के बाद अर्जुन ने जब से दुकान संभाली, तभी से विरोधी उस पर दुकान देने के लिए दबाव बना रहे थे।

घटना की सूचना मिलने पर विजयनगर पुलिस मौक़े पर पहुंची मामले की तफ्तीश कर रही है। घटना के बाद शहर में शराब की दुकानें बंद करवाई जा रही है।

Next Story