Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

माणक अग्रवाल ने सोनिया गांधी को लिखा पत्र, बोले- 'कमलनाथ ने पार्टी विचारधारा के विरुद्ध उठाया कदम'

माणक अग्रवाल ने लिखा है कि इमरती देवी और बाबूलाल चौरसिया मामले में कमलनाथ का विरोध किया था, राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से मामले में हस्तक्षेप करने की अपील की। पढ़िए पूरी खबर-

माणक अग्रवाल ने सोनिया गांधी को लिखा पत्र, बोले- कमलनाथ ने पार्टी विचारधारा के विरुद्ध उठाया कदम
X

भोपाल। पार्टी से निष्कासन के बाद कांग्रेस नेता माणक अग्रवाल ने सोनिया गांधी को पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने लिखा है कि- मैं 25 साल से एआईसीसी का इलेक्टेड मेंबर हूं प्रदेश कांग्रेस को मुझे पार्टी से निकालने का अधिकार नहीं है। प्रदेश कांग्रेस ने पार्टी संविधान के खिलाफ जाकर कार्रवाई की है। माणक अग्रवाल ने लिखा है कि इमरती देवी और बाबूलाल चौरसिया मामले में कमलनाथ का विरोध किया था। अग्रवाल का कहना है कि कमलनाथ ने पार्टी विचारधारा के विरुद्ध कदम उठाए इसलिए विरोध किया था। उन्होंने कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से मामले में हस्तक्षेप करने की अपील की है।

बता दें पीसीसी ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता माणक अग्रवाल को 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित करने का पत्र जारी कर दिया है। कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर ने माणक अग्रवाल के निष्कासन का पत्र जारी कर दिया है। गौरतलब है कि माणक अग्रवाल ने कुछ दिनों पहले कांग्रेस जॉइन करने वाले हिंदू महासभा के नेता बाबूलाल चौरसिया का विरोध किया था। माणक अग्रवाल मध्य प्रदेश कांग्रेस के बड़े नेता माने जाते हैं। वह अखिल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस कमेटी के मेंबर थे। इससे पहले वह मीडिया प्रभारी की जिम्मेदारी संभाल रहे थे।

कांग्रेस नेता माणक अग्रवाल ने एक ट्वीट में कहा था, पीसीसी चीफ कमलनाथ को धोखे में रख बाबूलाल चौरसिया को कांग्रेस की सदस्यता दिलाई गई, इस बारे में पार्टी को सोच-समझकर फैसला लेना चाहिए। महात्मा गांधी के हत्यारे की पूजा करने वालों की पार्टी में कोई जगह नहीं होनी चाहिए। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा था कि 'कमलनाथ को स्पष्ट कर देना चाहिए कि वह गोडसे की विचारधारा के साथ हैं कि गांधी के।'

Next Story