Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पानी नहीं मिलने पर 2 घंटे तक बेहोश रहा मजदूर, ASI अधिकारियों पर जबरन नाली साफ़ कराने का आरोप

  • मजदूरों का कहना है कि अधिकारी उन्हें पानी न पीने तक की नहीं देते थे इजाजत। पढ़िए पूरी खबर-

पानी नहीं मिलने पर 2 घंटे तक बेहोश रहा मजदूर, ASI अधिकारियों पर जबरन नाली साफ़ कराने का आरोप
X

खजुराहो। ASI अधिकारियों द्वारा मजदूरों से जबरन नाली साफ कराने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग रिहायसी कॉलोनी परिसर में काम करते समय पानी न मिलने से बेहोश मजदूर हो गया। मजदूर 2 घंटे तक बेहोशी की हालत में पड़ा रहा। मजदूर के साथी कर्मियों ने डायल 100 की मदद से खजुराहो स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया। मजदूरों ने ASI अधिकारियों पर जबरन नाली साफ कराने का आरोप लगाया है। वहीं उनका कहना है कि अधिकारी उन्हें पानी न पीने की इजाजत नहीं देते थे।

यह मामला खजुराहो का है, जहां आज विद्याधर कॉलोनी में स्थित भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के कमर्चारियों के रिहायसी निवास परिसर के अधिकारियों पर एक बार फिर ASI के अधीन काम करने वाले दैनिक वेतन भोगी मजदूरों ने अधिकारियों पर जबरन रिहायसी परिसर की नालियों को साफ कराने और लगातार काम कराने का आरोप लगाया है। यही नहीं मजदूरों की माने तो एएसआई अधिकारियों के तानाशाही रवैये के कारण आज शाम लगभग 4 बजे पीने का पानी न मिलने से एक मजदूर काम करते-करते बेहोश हो गया। मजदूर कॉलोनी में ही 2 घंटे बेहोश पड़ा रहा, जिसकी सूचना ASI के अधिकारियों को दी गई लेकिन अधिकारियों ने मजदूर की सुध तक नहीं ली। बाद में साथी मजदूरों ने डायल 100 की मदद से साथी मजदूर को खजुराहो स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया, जहां मजदूर का इलाज किया जा रहा है।

इसके अलावा दैनिक मजदूरों ने हाईकोर्ट के स्टे आर्डर मिलने के बाद भी अधिकारी द्वारा काम से निकाल देने की धमकी देने का भी आरोप लगाया है।

Next Story