Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

केवल चरखे से आजादी मिली यह कहना बेमानी होगा...

होटल पलाश में खजुराहो इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल की प्रेस कांफ्रेंस में बॉलीवुड एक्टर राजा बुंदेला से हरिभूूमि की खास चर्चा

केवल चरखे से आजादी मिली यह कहना बेमानी होगा...
X

भोपाल। कंगना द्वारा आजादी के मुद्दे पर तो मैं कुछ नहीं बोल सकता लेकिन हां यह जरूर है कि केवल चरखे से आजादी मिली यह कहना बेमानी होगा क्योंकि देश की आजादी में भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद जैसे महान क्रांतिकारियों का भी योगदान है। सुभाष चंद्र बोस ने तो विदेशों में जाकर अपनी फौज का निर्माण किया और आजादी के लिए संघर्ष किया तो सभी के द्वारा दी गई पूर्णाआहूति का परिणाम है आजादी। यह कहना है अलग बुंदेलखंड राज्य की मांग करने वाले जाने माने बॉलीवुड एक्टर राजा बुंदेला उर्फ राजा राजेश्वर प्रताप सिंह जूदेव का। जो सोमवार को होटल पलाश में खजुराहो इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल की प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। हरिभूमि से बातचीत में उन्होंने अलग बुंदेलखंड राज्य पर अपने विचार प्रस्तुत किए।

सरकार ने 4 नए राज्यों को संज्ञान में लिया, जिसमें बुंदेलखंड भी एक

राजा बुंदेला का कहना है कि केंद्र सरकार द्वारा 4 नए राज्यों को संज्ञान में लाया गया है जिसमें बुंदेलखंड भी शामिल है क्योंकि कोविड की वजह से और राजनीतिक लोगों के प्रेशर की वजह से नए बुंदेलखंड निर्माण थोड़ा टला है लेकिन इस नए बुंदेलखंड का निर्माण जरूर होगा।

राज्य बिजली बना रहे हैं और जनता अंधेरे में बैठे हैं

उन्होंने कहा कि छोटे राज्य तरक्की का स्रोत है क्योंकि आजादी से पहले 565 सूबे हुआ करते थे यह छोटी-छोटी रियासतें थी और उस समय हम खुशहाल थे, आज देखिए झांसी से दतिया 23 किलोमीटर दूर है, 7 नदियों का पानी है उसके बाद भी अलग-अलग राज्यों में स्थित हैं। यहां की जनता बंटी हुई है। यह राज्य बिजली बना रहे हैं और जनता अंधेरे में बैठे हैं, सभी स्रोत हैं उनके पास लेकिन ताकत नहीं है। हमारा जो बुंदेलखंड आजादी से पहले था उसी का अस्तित्व अब हम चाहते हैं।

हमारे बजट में कंगना नहीं हुई तैयार

राजा बुंदेला कहते हैं कि खुजराहो इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में मल्लिका शेरावत आएंगी, जो अपनी प्रस्तुति देंगी क्योंकि कंगना राणावत एक करोड़ की मांग कर रही थी और इसीलिए हमारे पास जितना बजट था उसमें मल्लिका शेरावत ही आ पाएंगी इसके साथ गोविंदा भी इस फेस्टिवल में शामिल होंगे।

पंजाब और हरियाणा को अलग करने से जीडीपी में आया उछाल

छोटे राज्यों के निर्माण में राजनीतिक नेता कुछ भी कहें लेकिन फायदा जनता का ही होता है जैसे झारखंड के लिए लालू ने कहा था कि मेरी छाती पर बनेगा, मुलायम सिंह यादव भी उत्तराखंड के निर्माण के विरोधी थे। लेकिन आखिरकार यह नए राज्य बने और तरक्की भी कर रहे हैं। पंजाब और हरियाणा को अलग करने से आप इनकी जीडीपी देखिए कि उसमें कितना उछाल आया है।

योगी की वजह से जनता की जमीन और बेटी सुरक्षित है

बुंदेलखंड अंचल के जिलों के लिए जो पैसा दिल्ली से चलता है वहां पहुंचते-पहुंचते 5-10 रुपए ही रह जाता है और पार्टी के मेनिफेस्टो में छोटा राज्य होता है, यूपी का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि यूपी में योगी आदित्यनाथ की सरकार है तो वहां की जनता खुश है योगी की वजह से यूपी की जनता की जमीन और बेटी सुरक्षित है।

Next Story