Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इंदौर डबल मर्डर : माता-पिता की हत्या के बाद भाग रहे थे राजस्थान, प्रेमी समेत बेटी गिरफ्तार

रतलाम के पास से पुलिस ने घेराबंदी कर दोनों को किया गिरफ्तार, एक लाख से अधिक नगद बरामद। पढ़िए पूरी खबर-

इंदौर डबल मर्डर : माता-पिता की हत्या के बाद भाग रहे थे राजस्थान, प्रेमी समेत बेटी गिरफ्तार
X

इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर के एरोड्रम थाना क्षेत्र में हुए पुलिसकर्मी के दोहरे हत्याकांड मामले में फरार बेटी और प्रेमी को गिरफ़्तार कर लिया गया है। बताया जा रहा है कि माता-पिता की हत्या के बाद युवती अपने प्रेमी के साथ बाइक पर राजस्थान भागने की फिराक में थी। रतलाम के पास से पुलिस ने घेराबंदी कर दोनों को गिरफ्तार किया। दोनों के कब्जे से एक लाख से अधिक नगद बरामद किया गया है। युवती ने खुद को बचाने के लिए अपने पिता पर अवैध संबंध बनाने का आरोप लगाते हुए झूठा पत्र लिखा था।

एसएएफ के ड्राइवर ज्योति प्रसाद शर्मा और उनकी पत्नी की हत्या के आरोपी दंपति की बेटी और उसका प्रेमी देर रात पुलिस गिरफ्त में आ गए। हत्या के बाद दोनों बाइक से रतलाम-मंदसौर के रास्ते राजस्थान भागने की फिराक में थे। रुक्मणि नगर में गुरुवार तड़के 5 बजे हुए इस सनसनीखेज हत्याकांड में आरोपियों की तलाश के लिए इंदौर पुलिस ने 5 टीमें गठित की थीं। साइबर सेल भी एक्टिव था, इससे 12 घंटे के भीतर आरोपियों को पकड़ लिया गया। उनके पास से करीब एक लाख रुपए मिले हैं। बताया जा रहा है कि दोनों ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है।

जानकारी अनुसार हत्या की पूरी साजिश प्रेमी धनंजय यादव ने पुलिसकर्मी की नाबालिग बेटी के साथ की थी। वह उसके प्यार में इतनी पागल थी कि, धनंजय जो कहता वह करती थी। वह उसके लिए परिवार तक से टकराने को तैयार रहती थी। बुधवार रात प्रेमी लड़की के घर एक स्कूटी लेकर आया था। यह स्कूटी उसके किसी दोस्त की थी, जिसे उसने यह कहकर लिया था कि उसके पिताजी की तबीयत खराब है। उन्हें डॉक्टर के पास लेकर जाना है। इसके बाद लड़की की इससे लगातार चैटिंग होती रही। बताया जा रहा है कि लड़की ने माता-पिता को कोई गोली भी खिला दी थी, जिससे उन्हें ज्यादा नींद आ गई। इसके बाद लड़की के इशारा पाते ही धनंजय यादव सुबह 3 बजे फरसा और लोहे की रॉड लेकर लड़की के घर आ धमका। यहां लड़की ने साजिश के तहत दरवाजा खोल दिया और उसे भीतर कर मां की हत्या करवा दी। मां की चीख सुन पिता जागे तो उन पर भी हमला कर दिया। नशे में होने की वजह से वह ज्यादा विरोध नहीं कर पाए और शोर मचाने लगे। इस पर लड़की बाहर कुत्ता घुमाने लगी, जिससे कोई पूछे तो कह दे कि माता-पिता लड़ रहे हैं।

हत्या के बाद प्रेमी धनंजय यादव से साजिश के तहत पिता पर गंभीर आरोप लगाने वाला एक लेटर लिखवाया। इसके बाद वह हथियार सहित लड़की लेकर रवाना हो गया। जाते-जाते इन्होंने बाहर से गेट पर ताला भी लगा दिया। लड़का यहां से सीधे अपने दोस्त के घर पहुंचा, लेकिन उसने लड़की को थोड़ा पहले ही उतार दिया था। उसकी स्कूटी देने के बाद वह अपने घर गया और अपनी बाइक लेकर लड़की के पास आया और यहां से उसे बिठाकर रतलाम वाली रोड पर गाड़ी दौड़ा दी। जानकारी के मुताबिक पूछताछ के दौरान भी लड़की और उनके प्रेमी ने गुनाह कबूल लिया है। लड़की का कहना है कि उन्हें किसी बात का अफसोस नहीं है।

Next Story