Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

JEE और NEET के लिए बच्चों को परीक्षा केंद्र तक मुफ्त में पहुंचाएगी सरकार, CM भूपेश ने दिए निर्देश

सभी जिला कलेक्टर्स को बस, मिनी बस, जीप जैसे वाहनों का बंदोबस्त करने को कहा है। पढ़िए पूरी खबर-

JEE और NEET के लिए बच्चों को परीक्षा केंद्र तक मुफ्त में पहुंचाएगी सरकार, CM भूपेश ने दिए निर्देश
X

बिलासपुर। कांग्रेस जेईई और नीट की परीक्षाओं को टालने के लिए सरकार पर दबाव बना रही हो लेकिन उसके शासन वाले छत्तीसगढ़ में दूसरी तस्वीर नजर आ रही है। अब जेईई और नीट की परीक्षा के लिए स्टूडेंट्स को परीक्षा केंद्रों तक राज्य सरकार पहुंचाएगी। इसे लेकर रविवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने निर्देश जारी कर दिए। उन्होंने सभी जिला कलेक्टर्स को बस, मिनी बस, जीप जैसे वाहनों का बंदोबस्त करने को कहा है।

जिला कलेक्टरों को जारी निर्देशों में कहा है कि परीक्षा में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों की संख्या के आधार पर आवश्यकतानुसार बस, मिनीबस, जीप आदि वाहनों की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। जारी निर्देश में कहा गया है कि छात्राओं के साथ उनके एक अभिभावक को भी यात्रा की अनुमति होगी और परीक्षा केंद्र तक की यात्रा निःशुल्क होगी। परीक्षार्थियों को वाहन में यात्रा के लिए अपने एंन्ट्रेंस एक्जाम का प्रवेश पत्र दिखाना ही पर्याप्त होगा। प्रवेश पत्र दिखाने पर परीक्षार्थियों को वाहन में यात्रा की अनुमति दी जाएगी।

निर्देश के मुताबिक सभी जिला कलेक्टर इसके लिए जिला नोडल अधिकारी नियुक्त करेंगे। क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय (आरटीओ) और जिला परिवहन कार्यालय (डीटीओ) से इस कोऑर्डिनेट किया जाएगा। प्राइवेट बस ऑपरेटर से बस ली जाएंगी। बच्चों को यह सुविध फ्री मिलेगी। परीक्षा 1 सितम्बर से आयोजित की जा रही है, इसलिए परीक्षार्थियों के लिए बसें 31 अगस्त से चलाई जाएंगी। राज्य में लगभग 13 हजार 500 परीक्षार्थी इस परीक्षा में शामिल होंगे। प्रदेश में इस परीक्षा के लिए 5 केन्द्र बनाए गए हैं।

उधर जेईई और नीट की परीक्षाओं को टालने के मसले पर कांग्रेस का सरकार पर हमला जारी है। कांग्रेस के पूर्व अध्यजक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी के 'मन की बात' कार्यक्रम पर तंज कसते हुए कहा कि जेईई और नीट के परीक्षार्थी चाहते थे कि प्रधानमंत्री 'परीक्षा पर चर्चा' करें लेकिन उन्हों ने 'खिलौने पर चर्चा' कर डाली।'

सीएम भूपेश बघेल ने खुद परीक्षा का विरोध करते हुए ट्वीट किया था- 'मई में जिस परीक्षा को टाला गया, उसे ऐसे समय में केंद्र सरकार कराना चाहती है जब कोरोना संकट चरम पर है। हम इसका पुरजोर विरोध करते हैं।'


Next Story