Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

CM शिवराज कल होंगे अस्पताल से डिस्चार्ज, 9वें दिन कोरोना रिपोर्ट निगेटिव

मध्यप्रदेश कैबिनेट की बैठक 4 अगस्त को होगी, सोमवार को 10 वें दिन अस्पताल से होंगे डिस्चार्ज। पढ़िए पूरी खबर-

CM शिवराज कल होंगे अस्पताल से डिस्चार्ज, 9वें दिन कोरोना रिपोर्ट निगेटिव
X

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 10 दिन बाद सोमवार को चिरायु कोविड अस्पताल से डिस्चार्ज हो जाएंगे। हालांकि कोरोना प्रोटोकॉल की वजह से वे एक सप्ताह तक अपने मुख्यमंत्री निवास पर ही कोरेंटाइन रहेंगे। उनकी बैठकें आदि पूर्व की तरह मुख्यमंत्री निवास से वर्चुअल यानी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संचालित होगी। 4 अगस्त को होने वाली कैबिनेट की बैठक भी इस बार पूर्व की ही तरह वर्चुअल कैबिनेट वीडियो काफ्रेंसिंग से ही होगी।

मुख्यमंत्री चौहान ने 25 जुलाई को सबसे पहले ट्वीट की जानकारी दी थी कि उनका कोरोना (कोविड-19) रिपोर्ट पॉजिटिव आया है। वे कोविड अस्पताल चिरायु में भर्ती होने जा रहे हैं। इसके बाद चिरायु में एडमिट हो गए। उनकी सभी रिपोर्ट नार्मल रही। रविवार को मुख्यमंत्री ने फिर से ट्वीट कर जानकारी दी कि उनका आरटी-पीसीअार कोराेना रिपोर्ट निगेिटव आया है। वे पूरी तरह से स्वस्थ हैं, कोरोना का कोई भी लक्षण उनमें नहीं है। सोमवार को उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी। उधर, मुख्यमंत्री चौहान का कोविड गाइडलाइन के अनुसार 10 दिन का कोरेंटाइन पीरियड सोमवार को समाप्त हो रहा है। इससे पहले कोविड मरीजों को अस्पतालों में अनिवार्य रूप से 14 दिन रहना पड़ता था। कई मामलों में हालांकि 20 से 22 दिन भी मरीजों को रखा गया। जब तक मरीज का कोरोना रिपोर्ट निगेटिव नहीं आता, तब तक उसे अस्पताल में रखा जाता है। ऐसा माना जाता है कि इस अर्टिफिशियल संक्रमण कोविड का असर 14 दिनों तक या कई मामलों में उससे अधिक दिनों तक रहता है। इसके बाद यह अपना स्वरूप बदल लेता है, कमजोर पड़ जाता है या समाप्त हो जाता है। हालांकि बाद में विशेषज्ञों से मिले सुझावों के आधार पर अस्पताल में क्वारेंटाइन रहने की अवधि कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने पर उसे घ्ाटाकर 10 दिन कर दिया गया।

कैबिनेट की बैठक 4 को वर्चुअल ही होगी

मध्यप्रदेश कैबिनेट की बैठक 4 अगस्त को रखा गया है। इसकी सूचना रविवार को जारी कर दी गई। किंतु यह पिछली बार की ही तरह वर्चुअल कैबिनेट ही होगी। सभी मंत्री जो जहां भी होंगे, वहीं से बैठक में वीडियो काफ्रेंसिंग के जरिए वर्चुअल कैबिनेट में शामिल होंगे। उनके लिए एनआईसी से लिंक उसी दिन आधे घंटे पहले दिया जाएगा। इसके बाद वे सीधे बैठक से जुड़ जाएंगे। बैठक में अपना सुझाव भी वे उसी तरीके से देंगे। इसके बाद मुख्यमंत्री उनके सुझावों के बाद कैबिनेट में आए प्रस्तावों पर अंतिम निर्णय लेंगे। अभी हालांकि कैबिनेट का एजेंडा जारी नहीं किया गया है। एजेंडा भी उसी वक्त या एक दिन पहले जारी किया जाएगा।

Next Story
Top