Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

माह के अंत तक रेत की मंडियां होगी खत्म, कलेक्टर ने माफियाओं को रोकने बनाई टीम

कलेक्टर ने कहा कि अवैध खनिज रेत उत्खनन, शराब माफियाओं को रोकने सरकारी भूमि पर किये अतिक्रमण को हटाने के लिये ब्लॉक एवं अनुविभाग स्तर पर एसडीएम की अध्यक्षता में टीमें गठित की गई है। पढ़िए पूरी खबर-

माह के अंत तक रेत की मंडियां होगी खत्म, कलेक्टर ने माफियाओं को रोकने बनाई टीम
X

मुरैना। रेत माफिया द्वारा जगह-जगह डंप की गई रेत को प्रशासन जब्त कर रहा है। शहर में जितनी भी रेत की मंडिया है। इस माह के अन्त तक खत्म कर दी जायेगी। यह बात कलेक्टर बी. कार्तिकेयन ने कही है। कलेक्टर ने कहा कि अवैध खनिज रेत उत्खनन, शराब माफियाओं को रोकने सरकारी भूमि पर किये अतिक्रमण को हटाने के लिये ब्लॉक एवं अनुविभाग स्तर पर एसडीएम की अध्यक्षता में टीमें गठित की गई है।

चंबल कमिश्नर अशीष सक्सेना द्वारा टास्क फोर्स की बैठक में अवैध उत्खनन, परिवहन एवं भण्डारण पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिये विशेष रणनीति बनाई गई है। इस बैठक में तय किया गया है कि ग्वालियर पुलिस अधीक्षक अमित सांघी के निर्देशन में ग्वालियर व मुरैना जिले की पुलिस, जिला प्रशासन, वन व खनिज विभाग के अधिकारी रेत के अवैध कारोबार के खिलाफ संयुक्त रूप से कार्रवाही करेंगे। रेत के अवैध परिवहन को रोकने के लिये ग्वालियर और मुरैना में नाके स्थापित कर बनाये जा रहे है।

इन नाकों पर बदल-बदल कर कर्मचारियों को तैनात किया जायेगा, जो रेत जप्ती की कार्रवाही और पकड़े वाहनों को राजसात करने की कार्रवाही के लिये अग्रेषित करेंगे। संपूर्ण कार्रवाही की वीडियोग्राफी भी तैयार की जायेगी। शराब माफियाओं के खिलाफ सीधे उनकी संपत्ति जप्त करने, अवैध तरीके से बनाये गये घर-मकानों को तोड़ने की कार्रवाही की जायेगी।

पॉलीटेक्निक कॉलेज के पास सरकारी जमीन पर चल रहे ईंट भट्टा को हटाने, जौरा गांव की डेमेज हो रही सड़क को सुधारने की कार्रवाही की जायेगी।

अपराध पर अंकुश लगाने, एक सैकड़ा लोग होंगे जिलाबदर

कलेक्टर ने कहा कि पुलिस अधीक्षक सुनील पांडे द्वारा जिला बदर के 136 प्रकरण भेजे है, इनमें से 15-16 लोंगो का जिला बदर कर दिया है। इस माह के अंत तक सभी के खिलाफ जिला बदर की कार्रवाही कर दी जायेगी। कलेक्टर ने कहा कि मिलावटखोरों के खिलाफ भी मुहिम चलाई जा रही है। इस कार्य के लिये प्रथक से डिप्टी कलेक्टर को काम दिया है, जो फूड एवं औषधि निरीक्षकों की कार्रवाही पर नजर रखेंगे। ब्राण्ड बदलकर तेल उत्पादन कर रहे तेल मिल व्यवसासियों के खिलाफ भी कार्रवाही होगी।

Next Story