Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एजेंटों के सामने सील नहीं की पेटियां, फर्जी वोटिंग का आरोप (फोटो)

25 जून को हुए पंचायत चुनाव को लेकर शिकवा-शिकायतों का दौर जारी है। सोमवार को एक दर्जन पंचायतों के लोगों ने चुनाव में गड़बड़ी का आरोप लगाकर पुनर्मतदान की मांग कलेक्टर अविनाश लवानिया से की है। मंगलवार को भी ग्राम पंचायत बरखेड़ा बोंदर में सरपंच के चुनाव में पीठासीन अधिकारी की मिलीभगत से फर्जी मतदान कराने का आरोप लगाया है।

एजेंटों के सामने सील नहीं की पेटियां, फर्जी वोटिंग का आरोप (फोटो)
X

पंचायत चुनाव के बाद पुनर्गणना और पुनर्मतदान की पहुंच रही शिकायत

भोपाल। 25 जून को हुए पंचायत चुनाव को लेकर शिकवा-शिकायतों का दौर जारी है। सोमवार को एक दर्जन पंचायतों के लोगों ने चुनाव में गड़बड़ी का आरोप लगाकर पुनर्मतदान की मांग कलेक्टर अविनाश लवानिया से की है। मंगलवार को भी ग्राम पंचायत बरखेड़ा बोंदर में सरपंच के चुनाव में पीठासीन अधिकारी की मिलीभगत से फर्जी मतदान कराने का आरोप लगाया है। शिकायत में कहा गया ह कि मतदान के पहले और बाद में एजेंटों के सामने पेटियों को भी सील नहीं किया गया है।

मंगलवार को शिकायत करने आए देशराज मीना सहित अन्य ग्रामीणों ने उपजिला निर्वाचन अधिकारी संजय श्रीवास्तव को शिकायत देते हुए बताया कि ग्राम पंचायत बरखेड़ा बोंदर में सरपंच के चुनाव में पीठासीन अधिकारी की मिलीभगत से वोटिंग प्रभावित की गई है। यहां पर बूथ नंबर 152 पीठासीन अधिकारी ने मतदान के पहले पेटी को सील नहीं किया गया। इसके बाद मतदान खत्म होने के बाद भी उसे सील नहीं किया गया। एक दिन बाद एजेंट नीरज उइके न दूसरे एजेंट कमलेश कुशवाह को बताया कि वोटर्स के हाथ से मतपत्र लेकर खुद वोट डाले गए है। जिसका आॅडियो भी शिकायत में पेश किया गया है। इधर वार्ड 10 की उम्मीदवार ओमवती मीणा ने भी रश्मि अवनीश भार्गव के पक्ष में अधिकारियों के काम करने का आरोप लगाया है। प्रत्याशी ने इन जगहों पर पुनर्मतदान की मांग की है।

और पढ़ें
Next Story