Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मंत्री के सख्त निर्देश, पेयजल से जुड़े अफसरों के मोबाइल नंबर जारी करें और सभी फोन उठाएं

नगरीय विकास एवं आवास तथा भोपाल जिले के प्रभारी मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने मंगलवार को भोपाल की पेयजल आपूर्ति व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि पानी की किस टंकी से किस समय जल आपूर्ति होगी, इसकी जानकारी के साथ ही कार्य से जुड़े अधिकारी-कर्मचारियों के नाम और मोबाइल नंबर सार्वजनिक करें। अधिकारी-कर्मचारी जन-प्रतिनिधियों एवं नागरिकों का फोन जल्द उठाए।

भोपाल। नगरीय विकास एवं आवास तथा भोपाल जिले के प्रभारी मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने मंगलवार को भोपाल की पेयजल आपूर्ति व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि पानी की किस टंकी से किस समय जल आपूर्ति होगी, इसकी जानकारी के साथ ही कार्य से जुड़े अधिकारी-कर्मचारियों के नाम और मोबाइल नंबर सार्वजनिक करें। अधिकारी-कर्मचारी जन-प्रतिनिधियों एवं नागरिकों का फोन जल्द उठाए। मंत्री सिंह ने कहा कि पेयजल आपूर्ति में किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उन्होंने कहा कि नीलबड़, गोरेगांव और सूरज नगर क्षेत्र में भी पेयजल की आपूर्ति प्रतिदिन की जाए। अभी इन क्षेत्रों में एक दिन छोड़कर पानी दिया जा रहा है।

निगमायुक्त ने दी यह जानकारी

कमिश्नर नगर निगम भोपाल केव्हीएस चौधरी कोलसानी ने बताया कि कोलार डेम से आने वाली सीमेंट पाइप लाइन वर्ष 1990 की है। इसमें बार-बार प्रेशर के कारण लीकेज हो जाता था। अमृत परियोजना में नई स्टील पाइप लाइन डाली गई है, जो सीमेंट कोटिंग के साथ 1650 एमएम की है। पुरानी पाइप लाइन 1500 एमएम की सीमेंट की थी। उन्होंने बताया कि पहले जो टंकी 6 से 7 घंटे में भरती थी, अब वह 3 घंटे में भर रही है। पीजीबीटी, नारियल खेड़ा और काजी केम्प के क्षेत्रों में भी अब समय पर पानी की टंकी भर जायेंगी। कोलसानी ने बताया कि मटमैले पानी की समस्या एक-दो दिन में समाप्त हो जाएगी। बैठक में कलेक्टर भोपाल अविनाश लवानिया और अपर आयुक्त नगर निगम सुश्री ऋजु बाफना भी उपस्थित थी।

और पढ़ें
Next Story