Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

महिला अफसर पर हमला करने वाले 3 गिरफ्तार, बाकी आरोपियों की तलाश जारी

माफियाओं के खिलाफ कार्रवाही कर रही एसडीओ पर हमला करने वालों पर पुलिस की कार्रवाही शुरु हो गई है। हमलावरों में 3 आरोपीयों को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं बाकि की तलाश जारी है। पढ़िए पूरी खबर-

महिला अफसर पर हमला करने वाले 3 गिरफ्तार, बाकी आरोपियों की तलाश जारी
X

मुरैना। चम्बल अभ्यारण की एसडीओ श्रद्धा पांढरे द्वारा अवैध रेत माफियाओं के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्यवाही की जा रही है। जिसे लेकर माफिया में बौखलाहट मची हुई है। वहीं एसडीओ द्वारा शिकायत के बाद अब पुलिस हरकत में आई है और हमला करने वाले 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

गौरतलब है कि दो दिन पहले ही देवगढ़ थाना क्षेत्र के पठानपुरा में रेत से भरी ट्रैक्टर ट्राली को पकड़कर जब एसडीओ थाने में सुपुर्दगी करने जा रही थी, तभी नहर पर माफियों ने ग्रामीणों के द्वारा लाठी डंडों से हमला करवा दिया और ट्रैक्टर ट्रॉली छुड़ाकर ले गए। इसके बाद एसडीओ ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था। जिसमें 7 ज्ञात और 100 अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था।

पुलिस अधीक्षक ललित शाक्यवार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राय सिंह नरवरिया ने मामले को गंभीरता से लेते हुए अवैध रेत से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली को छुड़ाने वाले आरोपियों को पकड़ने के लिए देवगढ़ थाना प्रभारी को दिशा निर्देश दिए गए थे। इसी निर्देशन में देवगढ़ थाना प्रभारी अरुण सिंह कुशवाह ने अपनी टीम के साथ मुखबिर की सूचना से आरोपी सरनाम सिंह पुत्र उम्मेद सिंह शाक्यवार, मरैया पुत्र भोलाराम शर्मा को लोहिकपुरा गांव और भरत सिंह पुत्र लाल सिंह को पठानपुरा से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। अभी कुछ आरोपी फरार हैं, जिनकी तलाश की जा रही हैं।

इस पूरे मामले में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रायसिंह नरवरिया का कहना हैं कि वन विभाग की एसडीओ पर हमला करने वालों को चिन्हित कर लिया गया है, जिसमें 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी की गिरफ्तारी के लिए जगह-जगह पुलिस कार्रवाही कर रही है। इसके बाद जो भी कार्यवाही की जाएगी वो प्री प्लानिंग के साथ की जाएगी। जिसमें माइनिंग, एसटीएफ, रेवन्यू और पुलिस के साथ मिलकर माफियाओं के खिलाफ दबिश दी जाएगी। जिससे माफिया किसी भी अधिकारी पर हमला न कर सके।

बता दें एसडीओ श्रद्धा पांढरे पर बीते दो माह में रेत माफिया 9 बार हमला कर चुके हैं। विपक्ष ने सरकार पर माफियाओं को संरक्षण न देने का आरोप लगाया था।

Next Story