Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

महापौर, नपा अध्यक्ष, जिपं अध्यक्ष, जनपद अध्यक्ष बनेंगी महिलाएं

सात साल बाद हो रहे नगरीय निकाय से लेकर पंचायत चुनाव में इस बार महिलाओं का दबदबा रहेगा। दरअसल, इस बार जिला पंचायत, नगर निगम महापौर, नगर पालिका और बैरसिया जनपद अध्यक्ष का पद महिला वर्ग के लिए आरक्षित किया गया है।

महापौर, नपा अध्यक्ष, जिपं अध्यक्ष, जनपद अध्यक्ष बनेंगी महिलाएं
X

पांच प्रमुख पदों में से 4 पर महिलाएं होंगी काबिज

भोपाल। सात साल बाद हो रहे नगरीय निकाय से लेकर पंचायत चुनाव में इस बार महिलाओं का दबदबा रहेगा। दरअसल, इस बार जिला पंचायत, नगर निगम महापौर, नगर पालिका और बैरसिया जनपद अध्यक्ष का पद महिला वर्ग के लिए आरक्षित किया गया है। वहीं एक मात्र फंदा जनपद पंचायत अनारक्षित वर्ग के लिए आरक्षित है। ऐसे में शहर सरकार से लेकर गांव सरकार की कमान महिलाएं के हाथ में होगी।

आरक्षण में इस बार फंदा जनपद पंचायत अध्यक्ष की सीट को अनारक्षित रखा गया। इसके अलावा अन्य जितने भी जिले के मुख्य पद हैं, वह सभी महिला वर्ग के लिए आरक्षित है। इसमें भोपाल नगर निगम महापौर के लिए पिछड़ा वर्ग महिला, भोपाल जिला पंचायत अध्यक्ष अनारक्षित महिला, बैरसिया जनपद पंचायत अध्यक्ष पिछड़ा वर्ग महिला और बैरसिया नगर पालिका अध्यक्ष का पद अनारक्षित महिला के लिए आरक्षित किया गया है।

- महापौर को जनता चुनेंगी, जिला, सदस्य चुनेंगे जनपद और नगर पालिका अध्यक्ष

इस बार नगर पालिक निगम के अलावा सभी मुख्य पद यानी अध्यक्ष पद का चुनाव सीधा प्रत्यक्ष न होकर अप्रत्यक्ष प्रणाली से होगा। जिसमें जिला पंचायत भोपाल, जनपद पंचायत फंदा और बैरसिया में चुनाव जीतकर आए सदस्य ही अध्यक्ष को चुनेंगे। साथ ही बैरसिया नगर पालिका परिषद अध्यक्ष का चुनाव भी वार्डों से चुने हुए पार्षद करेंगे। यही वजह है कि इस बार चुनावी मैदान में बड़ी संख्या में महिला प्रत्याशी मैदान में हैं।

- चुनाव जीतने दो-दो वार्डो से लड़ रहे चुनाव

जिला पंचायत में दस वार्ड हैं। इस बार आरक्षण में यह अनारक्षित महिला के आरक्षित हुआ है। अध्यक्ष पद महिला के लिए आरक्षित होते ही ग्रामीण नेताओं ने खुद तो नामांकन जमा किया ह साथ ही पत्नी और बेटी का भी पर्चा भरा है। कारण है कि चुनाव जीतने के बाद वो अध्यक्ष पद के लिए दावेदारी जता सके। इसी तरह जनपद और नगर पालिका में स्थिति बनी हुई है। हालांकि यहां पर ग्रामीण नेताओं ने खुद तो पर्चा दाखिल नहीं किया, लेकिन पत्नी को जरूर मैदान में उतारा है।

- कलखेड़ा में पोस्टर फाड़े, थाने में शिकायत

फंदा जनपद पंचायत की सबसे चर्चित पंचायत कलखेड़ा में जैसे-जैसे प्रचार आगे बढ़ रहा है, वैसे-वैसे आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी बढ़ता जा रहा है। मंगलवार को सरपंच प्रत्याशी संजय पराशर ने लगाए बैनर-पोस्टर फाड़ने पर रातीबड़ थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। इसमें श्याम सिंह नामक व्यक्ति पर लोगों को धमकाने और बैनर पोस्टर फाड़ने के आरोप लगाए गए हैं।

और पढ़ें
Next Story