Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भाई-बहन ने आपस में रचाया प्रेम विवाह, दुखी पिता ने जीवित बेटी का पुतला जलाकर किया ये काम

झारखंड (Jharkhand) के रामगढ़ (Ramgarh) से रिश्ते को शर्मसार कर देने का मामला सामने आया है। जिले के रजरप्पा थाना क्षेत्र (Rajarappa Police Station Area) स्थित चितरपुर (Chittarpur) में चचेरे भाई और बहन ने आपस में प्रेम विवाह (love marriage) रचा लिया है। बेटी की इस हरकत से पिता बुरी तरह दुखी हो गए हैं।

भाई-बहन ने आपस में रचाया प्रेम विवाह, दुखी पिता ने जीवित बेटी का पुतला जलाकर किया ये काम
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

रामगढ़ (Ramgarh) जिले के रजरप्पा थाना (Rajarappa Police Station) क्षेत्र स्थित चितरपुर (Chittarpur) में एक बहन और भाई (Cousin and brother) ने ही आपस में प्रेम विवाह (love marriage) कर लिया। दोनों के इस कदम से पूरा परिवार दुखी बताया जा रहा है। इतना ही नहीं अपने चचेरे भाई से शादी करने वाली युवती के पिता व अन्य परिजनों ने पहले तो जीवित लड़की का पुतला बनाया। इसके बाद उन्होंने अपनी जीवित बेटी का अंतिम संस्कार कर दिया। परिजनों ने अंतिम संस्कार लारी के सिमरानाला घाट पर किया है। वहीं पिता ने बाकायदा अपने सिर का मुंड़न भी करवाया। साथ ही परिवार का कहना है कि उन्होंने इन दोनों को अपने परिवार से सदैव के लिए पूरी तरह से अलग कर दिया है।

युवती के परिजनों का कहना हैं कि बेटी की इस हरकत से समाज में परिवार की जो इज्जत थी। वो अब पूरी तरह से मिट चुकी है। बताया जा रहा है कि युवती बीती 28 फरवरी को अपने चचेरे भाई के साथ भाग गई थी। इस मामले की शिकायत परिवार ने रजरप्पा थाने में दर्ज करवाई थी। इसके बाद चचेरे भाई-बहन मंगलवार को रजरप्पा थाना पहुंचे। जहां उन दोनों ने अपनी इच्छा से भागने की बात स्वीकारी। साथ ही दोनों ने आपस में प्रेम विवाह भी रचा लेने का दावा किया। इस पर दोनों के परिवार जन भी पुलिस थाने पहुंचे। यहां उन्होंने दोनों को काफी समझाने का प्रयास किया, लेकिन परिवार वालों की बात को उन दोनों ने नहीं माना। वो दोनों साथ में ही रहने के लिए अड़े हुए थे।

इस मामले की जानकारी पर समाजसेवी चंद्रशेखर पटवा भी पुलिस थाने पहुंचे। जहां उन्होंने सामाज की दुहाई देकर दोनों को समझाया। लेकिन युवक और युवती उनकी बात मानने के लिए भी तैयार नहीं हुए। वो दोनों पहले ही प्रेम विवाह रचा चुके थे। थाने में प्रेमी और प्रेमिका दोनों ने आपस में जीने मरने की कसमें भी खाईं।

Next Story