Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रविंद्र रैना बोले- आतंकी तालिब और फैजल अहमद डार पत्रकार होने का दिखावा करके बीजेपी दफ्तर आते थे, अब सता रहा ये डर

कुछ बड़ी कड़ियां सामने आ सकती हैं। वह पत्रकार बनकर लगातार बीजेपी समेत अन्य राजनीतिक पार्टियों के कार्यक्रमों में शामिल हो रहा था।

रविंद्र रैना बोले- आतंकी तालिब और फैजल अहमद डार पत्रकार होने का दिखावा करके बीजेपी दफ्तर आते थे, अब सता रहा ये डर
X

भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) की जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) यूनिट ने आज जम्मू में प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया। इस दौरान पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र रैना (State president Ravindra Raina) ने लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी तालिब हुसैन (Talib Hussain) और उसका साथी फैजल अहमद डार (Faizal Ahmed Dar) पत्रकार होने का दिखावा करके बीजेपी दफ्तर पहुंचता था। भाजपा कार्यालयों के अंदर और यहां तक कि राजनीतिक रैलियों में पत्रकारों के रूप में संवाददाता सम्मेलन में भाग लेते थे।

आतंकी तालिब हुसैन शाह के मोबाइल से जांच एजेंसियों को काफी सबूत मिले हैं। तालिब के फोन में ऐसी तस्वीरें और वीडियो दिखाई दे रहे हैं जो परेशान करने वाली हैं। ऐसा लगता है कि तालिब ने हमारे भाजपा जम्मू-कश्मीर मुख्यालय कार्यालय को रेकॉर्ड किया और यहां तक कि उन्हें एलओसी के पार लश्कर-ए-तैयबा के लोगों के पास भेज दिया। कुछ बड़ी कड़ियां सामने आ सकती हैं। वह पत्रकार बनकर लगातार बीजेपी समेत अन्य राजनीतिक पार्टियों के कार्यक्रमों में शामिल हो रहा था। वह किसी बड़े हमले को अंजाम देने के फिराक में था। जांच एजेंसियां सभी एंगल से जांच कर रही हैं।

बता दें कि केंद्र शासित के रियासी में गिरफ्तार किया गया आतंकी तालिब हुसैन कश्मीर की तरह जम्मू संभाग में लक्षित हत्याओं के लिए हाइब्रिड आतंकियों का नेटवर्क खड़ा कर रहा था। तालिब के निशाने पर संभाग के कई बड़े नेता और सरकारी नौकर थे। तालिब टारगेट किलिंग के माध्यम से संभाग में न सिर्फ आतंकवाद को फिर जिंदा करना चाहता था, बल्कि वह माहौल भी खराब करना चाहता था। इसके लिए वह लगातार पाकिस्तान में बैठे लश्कर के हैंडलरों के संपर्क में था।

और पढ़ें
Next Story