Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चारू सिन्हा को आतंक प्रभावित इलाके श्रीनगर में दी गई CRPF IG की जिम्मेदारी, जानें कौन है यह बहादुर महिला

जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में सरकार ने आईपीएस महिला अधिकारी चारू सिन्हा को सीआरपीएफ का इंस्पेक्टर जनरल नियुक्त कर दिया है।

चारू सिन्हा को आतंक प्रभावित इलाके श्रीनगर में दी गई CRPF IG की जिम्मेदारी, जानें कौन है यह बहादुर महिला
X

जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में सरकार ने आईपीएस महिला अधिकारी चारू सिन्हा को सीआरपीएफ का इंस्पेक्टर जनरल नियुक्त कर दिया है। ऐसा पहली बार है जब आतंक प्रभावित इलाके में महिला अधिकारी की नियुक्ति की गई है। इससे पहले चारू सिन्हा की नियुक्ति नक्सली इलाकों में भी हो चुकी है। अब वह आतंकवादियों से लोहा लेंगी।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, आईपीएस अधिकारी चारु सिन्हा को इससे पहले भी कई मुश्किल भरे टास्क भी रह चुके हैं। इससे पहले वह बिहार में सीआरपीएफ आईजी के पद पर भी नियुक्त हो चुकी हैं। 1996 बैच की तेलंगाना केडर आईपीएस अधिकारी चारु सिन्हा को अब आतंक प्रभावित इलाके श्रीनगर सेक्टर में पोस्टिंग दी गई है। उन्हें सीआरपीएफ का आईजी नियुक्त किया गया है।

आईपीएस अधिकारी चारू सिन्हा को पहली बार जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी प्रभावित क्षेत्रों में से एक केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) श्रीनगर सेक्टर के महानिरीक्षक (IG) के रूप में नियुक्त किया गया है।

1996 बैच के तेलंगाना कैडर के आईपीएस अधिकारी चारू सिन्हा अब महानिरीक्षक के रूप में सीआरपीएफ के लिए श्रीनगर सेक्टर की कमान संभालेंगे। यह पहली बार नहीं है जब उसे इतना कठिन काम सौंपा गया है, इससे पहले वो सीआरपीएफ में बिहार क्षेत्र में काम कर चुकी है और नक्सलियों से निपट चुकी है।

उनके नेतृत्व में विभिन्न नक्सल विरोधी अभियान चलाए गए। बाद में सीआरपीएफ का इंस्पेक्टर जनरल जम्मू में स्थानांतरित कर दिया गया। जहाँ उसने एक लंबा और सफल कार्यकाल बिताया। सोमवार एक नया आदेश आया, जो उसे आईजी श्रीनगर सेक्टर के रूप में नियुक्त कर रहा था।

वर्तमान महानिदेशक सीआरपीएफ एपी माहेश्वरी ने 2005 में श्रीनगर सेक्टर का नेतृत्व किया। 2005 में काम करना शुरू करने वाले इस सेक्टर में कभी भी आईजी स्तर की महिला अधिकारी नहीं थी। यह क्षेत्र आतंकवाद विरोधी अभियानों में शामिल है और जम्मू-कश्मीर पुलिस के साथ भारतीय सेना के साथ मिलकर काम करता है।

श्रीनगर सेक्टर में जम्मू-कश्मीर के तीन जिलों- बड़गाम, गांदरबल, और श्रीनगर और केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख का परिचालन क्षेत्राधिकार है। इसमें 2 रेंज, 22 कार्यकारी इकाइयां और 3 महिला कंपनियां शामिल हैं। इसके अलावा, श्रीनगर सेक्टर का ग्रुप सेंटर-श्रीनगर पर प्रशासनिक नियंत्रण है। इसके अलावा, 6 आईपीएस अधिकारियों और 4 वरिष्ठ कैडर अधिकारियों को भी सीआरपीएफ में शामिल किया गया है।

Next Story