Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल बॉर्डर पर बड़ी सख्ती: बगैर कोविड ई-पास के प्रदेश में नहीं मिलेगी एंट्री

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए मंगलवार देर शाम से नई बंदिशें (Restrictions) लागू हो गई है। अब बाहर जाने और प्रदेश में आने वाले सभी लोगों को कोविड ई-पास (Covid E-Pass) सॉफ्टवेयर पर रजिस्ट्रेशन करवाना जरूरी होगा।

हिमाचल बॉर्डर पर बड़ी सख्ती: बगैर कोविड ई-पास के प्रदेश में नहीं मिलेगी एंट्री
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए मंगलवार देर शाम से नई बंदिशें (Restrictions) लागू हो गई है। अब बाहर जाने और प्रदेश में आने वाले सभी लोगों को कोविड ई-पास (Covid E-Pass) सॉफ्टवेयर पर रजिस्ट्रेशन करवाना जरूरी होगा। बिना पास के कोई भी प्रदेश में प्रवेश नहीं कर पाएगा। इसके अलावा हॉटस्पॉट वाले क्षेत्रों से आने वाले लोगो को 14 दिन के लिए होम क्वारंटाइन या संस्थानगत क्वारंटाइन होना पड़ेगा।

इसमें 72 घंटे की कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट वालों ओर वैक्सीन के दो डोज लगाने वालों को क्वारंटाइन नहीं होना पड़ेगा। इसके अलावा पप्रदेश के बॉर्डर पर ही पास की जांच करवाने की व्यवस्था आज से लागू हो गई है और वहीं से सभी जिलों को जानकारी दी जाएगी। प्रदेश में बड़ रहें कोरोना मामलों को देखते हुए इस तरह का निर्णय लिया गया है, ताकि कोरोना संक्रमण से बचा जा सकें।

इसक अलावा जिला शिमला में भी लोगों को कोरोना संक्रमण के बचाव के लिए प्रशासन द्वारा जागरूक किया जा रहा है, ताकि प्रदेश में कोरोना के मामलों पर कुछ हद तक काबू पाया जा सकें। इसके साथ ही लोगों को भी कोरोना संक्रमण से बचने के लिए बार-बार आग्रह किया जा रहा है। शिमला जिला उपायुक्त आदित्य नेगी ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा जारी नई गाइडलाइंस को आज से लागू किया जा रहा है और बाहर जाने और आने के लिए कोविड-19 पास बनाना अनिवार्य होगा और उसके बिना किसी को एंट्री नही दी जाएगी।

इसके अलावा जिला में शादी समारोह पर नजर रखने के लिए टास्क फोर्स का गठन भी किया गया है। उपायुक्त ने कहा कि बीडीओ और तहसीलदार की अध्यक्षता में फोर्स का गठन गया है जिसमे एएसआई स्तर के पुलिस अधिकारी, प्रधान-उपप्रधान भी शामिल होंगे। यही नहीं कोविड नियमो का पालन न करने वालो पर कार्रवाई करने की शक्तियां भी पंचायत प्रतिनिधियों को दे दी गई है। उन्होंने कहा कि नियमों का पालन करवाने के लिए सख्ती बढ़ा दी गई है, यदि कोई नियमों का उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Next Story