Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आसमानी बिजली गिरने से दो की मौत, भरमौर में बादल फटने से भारी नुकसान

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के कई जिलो में भारी बारिश (Heavy Rain), ओलावृष्टि व बादल फटने से व्यापक नुकसान हुआ है। शिमला जिले (Shimla District) के रामपुर बुशहर के तहत सराहन में आसमानी बिजली से दो नेपाली मजदूरों की मौत हो गई है।

आसमानी बिजली गिरने से दो की मौत, भरमौर में बादल फटने से भारी नुकसान
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के कई जिलो में भारी बारिश (Heavy Rain), ओलावृष्टि व बादल फटने से व्यापक नुकसान हुआ है। शिमला जिले (Shimla District) के रामपुर बुशहर के तहत सराहन में आसमानी बिजली से दो नेपाली मजदूरों की मौत हो गई है। जानकारी के अनुसार माशनू क्षेत्र में दो नेपाली मजदूर खेतों में काम पूरा कर घर लौट रहे थे लेकिन इसी बीच भारी बारिश (Rain) शुरू हो गई और दोनों ने इससे बचने के लिए पेड़ का सहारा लिया। इसी दौरान पेड़ पर बिजली गिर गई और दोनों की इसकी चपेट में आने से मौके पर ही मौत हो गई। हादसे की सूचना स्थानीय पंचायत प्रधान से पुलिस को दी। इसके बाद एएसआई सुनील दत्त की अगुवाई में पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। स्थानीय लोगों की मदद से मृतकों के शवों को सिविल अस्पताल सराहन लाया गया। बुधवार को शवों का पोस्टमॉर्टम (Postmortem) कर आगामी कार्रवाई की जाएगी। दोनों मृतक माशनू के एक बागवान के पास मजदूरी करते थे। डीएसपी रामपुर चंद्रशेखर ने हादसे की पुष्टि करते हुए कहा कि मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई की जा रही है

वहीं चंबा जिले के भरमौर की पूलन पंचायत में बादल फटने से 30 के करीब भेड़-बकरियों की मौत हो गई है। जानकारी के अनुसार बादल फटने के बाद आए मलबे में भेड़-बकरियों की दबकर मौत हो गई। वहीं, भरमौर-पूलन-सुप्पा व भरमौर-सिरडी-बडग्राम मार्ग अवरुद्ध हो गया है। एसडीएम भरमौरी मनीष सोनी ने बताया कि बादल फटने से हुए नुकसान का आकलन लगाने के लिए राजस्व विभाग की टीम को मौके पर भेजा गया है।

वहीं, मनाली और लाहौल.स्पीति की ऊंची चोटियों पर ताजा बर्फबारी हुई है। निचले क्षेत्रों में झमाझम बारिश हुई है। पहाड़ों पर बर्फबारी के बाद घाटी में तापमान लुढ़क गया है। लगातार खराब मौसम से मनाली-लेह मार्ग पर वाहनों की आवाजाही प्रभावित हो सकती है। तेज हवाओं के साथ हुई बारिश से कई जगह फलों को नुकसान पुहंचा है। जबकि मटर, गोभी के लिए बारिश अच्छी मानी जा रही है।

रामपुर उपमंडल की नरैण पंचायत के दलोग सहित अन्य गांवों में मंगलवार सुबह ओलावृष्टि सेब की फसल को नुकसान पहुंचा है। वहीं ठियोग के कुछ भागों में भी ओलावृष्टि हुई है। बता दें हिमाचल प्रदेश के मैदानी और मध्य पर्वतीय 10 जिलों में आज से भारी बारिश, अंधड़ और ओलावृष्टि का ऑरेंज अलर्ट जारी हुआ है। 11 से 13 मई तक इन जिलों के अधिकांश क्षेत्रों में बादल बरसने का पूर्वानुमान है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने प्रशासन से भी सतर्क रहने की अपील की है। पूरे प्रदेश में 15 मई तक मौसम खराब रहने की संभावना है।

Next Story