Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना काल में शादियां बनीं प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती, इस जिले में होंगे 3 हजार समारोह

हिमाचल प्रदेश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के बीच शादी समारोह (Wedding ceremony) भी प्रशासन के लिए टेढ़ी खीर बन गई है। आपको बता दें कि प्रदेश में इस समारोह के दौरान लाखों लोग एक दूसरे के संपर्क में आएंगे।

कोरोना काल में शादियां बनीं प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती, इस जिले में होंगे 3 हजार समारोह
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के बीच शादी समारोह (Wedding ceremony) भी प्रशासन के लिए टेढ़ी खीर बन गई है। आपको बता दें कि प्रदेश में इस समारोह के दौरान लाखों लोग एक दूसरे के संपर्क में आएंगे। ऐसे में कुछ ही दिनों में होने वाले इन समाराहों में जुटने वाली लोगों की बड़ी भीड़ पर अंकुश लगाना सरकार व प्रशासन के सामने बड़ी चुनौती है। इस दौर में जिस भी व्यक्ति ने समारोह का मजा लेने के चक्कर में लापरवाही की, तो वह अपने साथ साथ दूसरों पर भी भारी पड़ सकता है, इस चुनौती से निपटने के लिए भी जिला प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी हैं।

कांगड़ा जिला में कोरोना संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच शनिवार से शुरू हुई शादियों और अन्य सामाजिक समारोह व कार्यक्रम जिला प्रशासन के लिए किसी बड़ी चुनौती से कम नही हैं। एक तरफ जहां प्रशासन द्वारा कोरोना की चेन तोड़ने के लिए लॉकडाउन सहित अन्य तरह की पाबंदियों को लगाया गया है, वहीं एक माह तक जिला में शादियों व अन्य सामाजिक समारोहों की बाढ़ आ गई है। जो प्रशासन के समक्ष कोरोना को रोकने में चुनौती साबित होगी। जिला में 24 अप्रैल से 24 मई तक एक माह के दौरान तीन हजार से अधिक शादियां व अन्य समारोह के आयोजनों को लेकर जिला प्रशासन से मंजूरी ली गई है, जबकि अभी और लोग इन आयोजनों के लिए मंजूरी ले रहे हैं। ऐसे में यह आंकड़ा और भी बढ़ना तय है।

किस जिले में कितने समारोह

जिला में उपमंडल स्तर पर शादी समारोह की बात करें, तो 24 अप्रैल से 24 मई के बीच अब तक 3092 समारोह के लिए लोग मंजूरी ले चुके हैं। बैजनाथ से 165, देहरा से 359, धर्मशाला से 314, धीरा से नौ, फतेहपुर से 155, इंदौरा से 186, जयसिंहपुर से 167, ज्वाली से 225, ज्वालामुखी से 76, कांगड़ा से 284, नगरोटा बगवां से 203, नूरपुर से 276, पालमपुर से 476 तथा शाहपुर से 197 लोगों ने अब तक इन आयोजनों के लिए जिला प्रशासन से मंजूरी ले रखी है। अभी यह संख्या और अधिक बढ़ने वाली है।

Next Story