Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोटली में तहसील तो बनी पर नहीं है तहसीलदार और नायब तहसीलदार, लोगों की समस्याएं जस की तस

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के मंडी जिले (Mandi District) में तहसील तो बनी लेकिन लोगों की समस्याएं (Issues) जस की तस बनी हुई हैं।

कोटली में तहसील तो बनी पर नहीं है तहसीलदार और नायब तहसीलदार, लोगों की समस्याएं जस की तस
X

एडीसी मंडी जतिन लाल को सौंपा ज्ञापन।

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के मंडी जिले (Mandi District) में तहसील तो बनी लेकिन लोगों की समस्याएं (Issues) जस की तस बनी हुई हैं। आपको बता दें कि मंडी शहर के साथ लगती कोटली तहसील (Kotli Tehsil) में तहसीलदार और नायब तहसीलदार न होने से राजस्व संबंधी कार्य के लिए लोग इधर-उधर भटकने को मजबूर हैं। तहसीलदार और नायब तहसीलदार नहीं होने से लोगों को पहले के जितनी ही परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

लोगों का यहां तक कहना हैं कि जब तहसील नहीं थी हमें जब भी इतनी ही परेशानी उठानी पड़ती थी। कोटली में तहसील बनने से हमें कोई भी लाभ नहीं हुआ है। तहसील होने पर भी लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। समस्या के समाधान के लिए एडीसी को ज्ञापन भेजा है।

वहीं, कई पटवार सर्किल में पटवारी व कानूनगो न होने से लोगों को कई परेशानियां झेलनी पड़ रही हैं। इसी मुद्दे को लेकर एक्ससर्विसमैन लीग का एक प्रतिनिधिमंडल एडीसी मंडी जतिन लाल से मिला और प्रदेश सरकार को एक ज्ञापन प्रेषित कर इन सब रिक्त पड़े पदों को भरने की मांग उठाई है।

एक्स सर्विसमैन लीग के जिला अध्यक्ष कर्नल प्रताप सिंह का कहना है कि ने कोटली तहसील में तहसीलदार व नायब तहसीलदार की नियुक्ति की मांग उठाई है, ताकि जनता की समस्याओं का निपटारा प्राथमिकता के आधार पर हो सके।

Next Story