Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Sunday Special: मन मोहने वाला हिल स्टेशन है डलहौजी, जानें कैसे पड़ा इसका यह नाम

Sunday Special: हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के चंबा जिले (chamba district) में स्थित डलहौली एक बहतरीन पर्यटन (Beautiful tourist Place) स्थलों में से एक है। दूर-दूर से लोग यहां घूमने के लिए आते हैं।

Sunday Special: मन मोहने वाला वाला हिल स्टेशन है डलहौजी, जानें कैसे पड़ा इसका यह नाम
X

मन मोहने वाला वाला हिल स्टेशन है डलहौजी

Sunday Special: हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के चंबा जिले (chamba district) में स्थित डलहौली एक बहतरीन पर्यटन (Beautiful tourist Place) स्थलों में से एक है। दूर-दूर से लोग यहां घूमने के लिए आते हैं। आपको बता दें कि पांच पहाड़ियों (कैथलॉग पोट्रेस, तेहरा, बकरोटा और बोलुन) से बाहर फैले शहर का नाम 19वीं शताब्दी के ब्रिटिश गवर्नर जनरल लॉर्ड डलहौज़ी (British Governor General Lord Dalhousie) के नाम पर रखा गया है। इस हिल स्टेशन का निर्माण 1854 में ब्रिटिश गवर्नर-जनरल लॉर्ड डलहौजी ने करवाया था। शहर की अलग-अलग ऊंचाई इसे विभिन्न प्रकार के वनस्पतियों (flora) के साथ छायांकित करती है। यहां पर चीड़, देवदार, ओक्स और फूलदार रोडोडेंड्रॉन के सुंदर ग्रूव वृक्ष पाए जाते हैं।

हिमाचल का खूबसूरत हिल स्टेशन


इस शहर की खूबसूरती लोगों को अपना दीवाना बना देती है। जो लोग व्यक्ति एक बार यहां पर घूम जाए तो वह बार-बार यहां आना पसंद करता है। यहां पर औपनिवेशिक वास्तुकला में धनी, शहर कुछ सुंदर चर्चों को संरक्षित करता है। इसके अद्भुत वन ट्रेल्स जंगली पहाड़ियों, झरने, स्प्रिंग्स और रिव्यूलेट्स के विस्टा को नजरअंदाज करते हैं। चंबा घाटी और धौलाधर पर्वत पूरे क्षितिज में बर्फ से ढके हुए चोटियों के शानदार दृश्य यहां देखने को मिलेंगे। लोग इस शहर की खूबसूरती में खो जाते हैं।

डलहौजी से 4 किलोमीटर की दूरी पर है बड़ा बत्थर


वहीं आपको बता दें कि बड़ा पत्थर डलहौजी से चार किलोमीटर की दूरी पर स्थित अहला गांव में भुलावनी माता का मंदिर है, जिसे देखने के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं। डायन कुंड डलहौजी से लगभग 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां से व्यास, चिनाब और रावी नदियों का विहंगम दृश्य दिखाई देता है। घूमने आने वालों के लिए बकरोटा मॉल बेहद लोकप्रिय जगह है। लगभग साढ़े आठ किलोमीटर की दूरी पर स्थित कालाटोप में छोटी सी वाइल्ड लाइफ सेंचुरी है। यहां जंगली जानवरों को नजदीक से देखा जा सकता है।

यहां पर उत्तर-भारतीय भोजन का ले सकते हैं आनंद


डलहौजी अपने मौसम सुंदरता के लिए प्रसिद्ध है। इसके अलावा, यहां ब्रिटिश काल के स्कूल हैं। कॉन्वेंट के अलावा, काफी पुराने बोर्डिंग स्कूल यहां हैं। इस शहर को अंग्रेजों ने बसाया था। डलहौजी पर्यटन स्थल है। ऐसे में आप यहां उत्तर-भारतीय भोजन का आनंद ले सकते हैं। होटल और रिसॉर्ट्स से जुड़े भोजनालयों में मिलने वाले कई तरह के व्यंजनों के साथ कुछ खास व्यंजनों का स्वाद भी चख सकते हैं। हिमाचली व्यंजन का भी लुत्फ यहां लिया जा सकता है।

Next Story